मैच से पहले PAK का डर्टी गेम, स्टेडियम के बाहर कश्मीर को लेकर प्रोटेस्ट..

बर्मिंघम में भारत-पाक मैच से पहले कश्मीर को लेकर नारेबाजी की गई है. तहरीक ए कश्मीर यूके नाम के संगठन ने बैनर लेकर नारेबाजी और विरोध प्रदर्शन किया. पाक खुफिया एजेंसी ISI ने आज खेले जाने वाले भारत-पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी मैच में 14 से ज्यादा एजेंटों को भेजने की योजना बनाई थी. इंडिया टुडे को पहले ही यह जानकारी सूत्रों के हवाले से मिल गई थी.

IndVsPak : भारत के 150 रन पूरे, रोहित-कोहली पर ‘विराट’का स्कोर हुआ दारोमदारमैच से पहले PAK का डर्टी गेम, स्टेडियम के बाहर कश्मीर को लेकर प्रोटेस्ट..अभी-अभी: भारत-पाक मैच से पहले लंदन में आतंकी हमला, चारों तरफ मचा हाहाकार…
सूत्रों के मुताबिक, इंग्लैंड के एजबस्टन में आयोजित चैंपियंस ट्राफी मैच के दौरान ISI ने अपने एजेंटों ऐसे तीन प्ले कार्ड्स दिखाने का निर्देश दिया था जो कश्मीर की आजादी के पक्ष में हों. उसी निर्देश के मुताबिक मैच से पहले यह नारेबाजी की गई है. 

इंडिया टुडे को पहले ही यह जानकारी मिली थी कि ISI से जुड़े एजेंट्स मैच के दौरान ‘कश्मीर लहुलूहान है’, ‘हम कश्मीर के साथ हैं’, ‘जम्मू-कश्मीर राज्य को अभी आजाद करो’और ‘कश्मीर मांग रहा आपकी नजर’जैसे स्लोगन वाले प्ले कार्ड्स मैच के दौरान दिखा सकते हैं.

यहां यह साफ है कि ISI की तरफ से ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि वो भारत के खिलाफ अपने प्रोपगेंडे को फैसला सकें. भारतीय खुफिया एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक ISI ऐसा करने की कोशिश कर सकता है और अगर मैच के दैरान ऐसी कोई स्थिति बनती है तो देशवासियों को और विदेशी नागरिकों को भी यह समझ लेना चाहिए कि ये ISI द्वारा भारत को बदनाम करने की एक साजिश है.

यहां यह साफ है कि आज का मैच ऐसे वक्त में खेला जा रहा है जब परमाणु हथियारों से लैस इन दो पड़ोसी मुल्कों के बीच गहरा तनाव है. एक दिन पहले की पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया और हाल-फिलहाल में ही पाकिस्तानी सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने दो भारतीय जवानों को मारा और उनके शरीर को क्षत-विक्षत कर दिया.

वहीं पाकिस्तान की सेना ने दवा किया कि नियंत्रण रेखा पर पांच भारतीय जवानों को मार गिराया गया है हालांकि भारतीय सेना ने इस दावे को सिरे से खारिज कर दिया.

इनसब के अलावे नरेंद्र मोदी सरकार ने एक बार फिर साफ किया है कि भारत-पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट श्रृंखला तब तक ‘लगभग नामुमकिन’जब तक पाकिस्तान आतंकवाद को समर्थन करता रहेगा. 

You May Also Like

English News