मैच हारने पर श्री लंका बोर्ड ने हद कर दी, ग्राउंड स्टाफ को पेमेंट देने से पहले उतरवा ली पैंट

श्री लंका क्रिकेट बोर्ड की स्टाफ से बदसलूकी को लेकर सोशल मीडिया पर काफी आलोचना हो रही है। हालांकि, खबर वायरल होने के बाद बोर्ड ने दुर्व्यवहार के लिए माफी मांग ली और स्टाफ को मुआवजा देने का भी ऐलान किया है। बोर्ड ने जिम्बॉब्वे के साथ मैच खत्म होने के बाद अपने ग्राउंड स्टाफ को पैंट उतारकर वापस लौटाने को कहा। बोर्ड अधिकारियों ने कहा कि पैंट वापस लौटाने के बाद ही उन्हें मेहनताना मिलेगा। इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं।मैच हारने पर श्री लंका बोर्ड ने हद कर दी, ग्राउंड स्टाफ को पेमेंट देने से पहले पैंट उतरवा लिएमैच हारने पर श्री लंका बोर्ड ने हद कर दी, ग्राउंड स्टाफ को पेमेंट देने से पहले पैंट उतरवा लिए

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोमवार को श्री लंका और जिम्बॉब्वे के बीच खेले गए मुकाबले में श्री लंका को हार का सामना करना पड़ा। जिम्बॉब्वे ने श्री लंका को हराकर सीरीज 3-2 से जीत लिए। मैच खत्म होने के बाद जो हुआ वह बेहद शर्मसार करने वाला था।

बोर्ड के अधिकारियों ने ग्राउंड स्टाफ को अपने-अपने पैंट उतारकर वापस करने को कहा। श्री लंका संडे टाइम्स वेबसाइट के मुताबिक़ ग्राउंट स्टाफ, जिन्हें 1000 रुपए की फीस पर मैच के दौरान स्टेडियम के कामकाज और सफाई के लिए बुलाया गया था। करीब 100 लोग उस वक्त मैदान पर मौजूद थे। उन्हें श्री लंका क्रिकेट बोर्ड की ओर से यूनिफॉर्म दिए गए थे, लेकिन जब मैच खत्म हुआ तो उन्हें वो यूनिफॉर्म उतारने के लिए कहा गया। 

महिंद्रा राजपक्षे इंटरनैशनल स्टेडियम में काम पर रखे गए तमाम स्टाफ को अपनी पैंट उतारकर अपने कपड़े पहनने को कहा गया। इनमें से ज़्यादातर लोगों के पास कोई दूसरी पैंट भी नहीं थी, जो वो उस वक्त पहन सके। सोशल मीडिया पर इस घटना की कई तस्वीरें वायरल हो रही है। फोटो वायरल होने के बाद श्री लंका क्रिकेट बोर्ड ने लोगों से माफी मांगी। बोर्ड की तरफ से जारी आधिकारिक बयान में यह भी कहा गया कि इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बोर्ड ने ग्राउंड स्टाफ को मुआवजा देने की भी बात कही है।

You May Also Like

English News