मॉडल बंधक कांड : बिल्डिंग में कैसे घुसा रोहित, नहीं उगलवा पाई पुलिस

मिसरोद थाने के सामने बनी फार्च्यन डिवाइन सिटी में घुसकर 12 घंटे एक मॉडल को बंधक बनाने वाला रोहित सिंह भले की जेल में पहुंच चुका है, लेकिन उसका खौफ अभी भी मॉडल के मकान के आसपास पसरा है। मॉडल की मां पांच मिनट के लिए भी दरवाजा नहीं खोल रही है। किसी अंजान को उनसे मिलने नहीं दिया जा रहा है। पुलिस सुरक्षा के लिए तैनात है। हालांकि अभी भी रोहित के परिसर में घुसने पर रहस्य बना हुआ है। पुलिस 48 घंटे रोहित को हिरासत में रखने के बाद उससे यह उगलवा नहीं पाई कि आखिरकार वह चारों तरफ से सुरक्षित कवर्ड कैंपस में कैसे दाखिल हुआ था। बार – बार पूछने के बाद पुलिस के अफसरों को वह चकमा देता रहा था।

हम यहां बता दें कि शुक्रवार सुबह सात बजे से रात के सात बजे तक अलीगढ़ के रहने वाले रोहित सिंह ने एक 31 वर्षीय मॉडल को फार्च्यन डिवाइन सिटी की पांचवीं मंजिल स्थित फ्लेट में गन प्वाइंट पर बंधक बनाकर रखा था। एसपी राहुल लोढा ने 12 घंटे की मशक्कत के बाद उसको बाहर निकाल पाए थे।

थानेदार जब कट्टा छीनने की कोशिश कर रहा था तब रोहित ने गले पर मारी कैंची

ज्यादातर लोगों के मन में एक ही सवाल था कि आखिरकार रोहित ने युवती को कैंची क्यों मारी? इसके बारे में युवती ने खुद पुलिस को बताया है कि शुक्रवार को जब उसने पुलिस से चार्जर मांगा था, तब मिसरोद पुलिस के सब इंस्पेक्टर जीएस राजपूत ने उससे कट्टा छीनने की कोशिश की थी, जिस पर युवती के गले पर उसने कैंची मारी थी। जिसका जिक्र युवती द्वारा रोहित के खिलाफ कराई एफआईआर में भी है।

सीसीटीवी भी नहीं कराए उपलब्ध

फार्च्यन डिवाइन सिटी की सोसायटी ने घटना के तीन दिन बाद भी मिसरोद पुलिस को सीसीटीवी के फुटेज उपलब्ध नहीं करवाए हैं। जिससे पुलिस यह जानने का प्रयास करेगी कि आखिरकार रोहित सिंह कॉलोनी में घुसा कैसे था।

48 घंटे में नहीं खोला था मुंह

पुलिस के पास रोहित पूरे 48 घंटे हिरासत में रहा होगा। पुलिस ने उससे इस दौरान कई वार पूछा कि वह फार्च्यन डिवाइन सिटी परिसर में कैसे पहुंचा, लेकिन उसने हर बार बहाना बनाया कि उसको नहीं मालूम वह उलझ गया था। कभी वह कहताथा कि वह गेट 1 से तो कभी 2 नंबर गेट से अंदर आने की बात करता था। जबकि गार्ड का कहना था कि वह गेट से अंदर नहीं आया। इस पर टीआई मिसरोद संजीव चौकसे का कहना है कि रोहित सिंह खुद कन्फयूज हो गया था। वह उसको ध्यान नहीं था कि आखिरकार वह कहां से घुसा। सीसीटीवी के लिए सोसायटी को पत्र लिखा है। उसको देखकर पता लगाएगे कि कहां से दाखिल हुआ था रोहित।

You May Also Like

English News