मोगा: नाभा जेल ब्रेक कांड में बड़ी सफलता, मास्टरमाइंड गुरप्रीत सेखों गिरफ्तार

मोगा के गांव ढुडीके में गैंगस्टर गिरोह और पटियाला पुलिस के बीच मुठभेड़ के बाद नाभा जेल ब्रेक कांड में फरार गैंगस्टर गुरप्रीत सेखों समेत चार गैंगस्टरों को गिरफ्तार कर लिया गया है। यह गैंगस्टर एक एनआरआई की कोठी में छिपे हुए थे। पुलिस ने मौके से तीन पिस्तौल और एक 12 बोर बंदूक और दो गाड़ियां कब्जे में ली हैं। 
मोगा: नाभा जेल ब्रेक कांड में बड़ी सफलता, मास्टरमाइंड गुरप्रीत सेखों गिरफ्तार
गांव ढुडीके में जिला पुलिस प्रमुख, मोगा गुरप्रीत सिंह तूर और एआईजी कांउटर इंटेलीजेंस पटियाला गुरमीत सिंह चौहान ने बताया कि सूचना मिली थी कि गांव ढुडीके में गैंगस्टर गुरप्रीत सिंह सेखों अपने तीन साथियों के साथ एनआरआई के घर ठहरा हुआ है।

विस चुनाव के लिए पार्टियों के घोषणा पत्रों से युवा काफी नाराज, जानिए क्या बोले?

पटियाला पुलिस के एसपी के नेतृत्व में पुलिस ने रविवार दोपहर बाद गांव ढुडीके में घेराबंदी की। इस दौरान दोनों गुटों में तकरीबन 15 मिनट फायरिंग हुई।  पुलिस फोर्स ने घर को घेरा डाला और ग्रामीणों को अपने घरों में ही रहने को कह दिया इसके बाद फायरिंग शुरू हुई।

दोनों गुटों में 15 मिनट तक हुई फायरिंग

हालांकि जिला पुलिस प्रमुख गुरप्रीत सिंह तूर ने कहा कि कोई फायरिंग नहीं हुई। जिस मकान में यह गैंगस्टर रुके हुए थे, वह पंजाब केसरी लाला लाजपत राय की यादगारी भवन के पास वाले मकान में एक एनआरआई दविंदर सिंह गोल्डी रह रहा है।

पंजाब की चुनावी अरेबियन नाइट्स, सोशल मीडिया पर ऑडियो-विजुअल प्रचार

इस मुठभेड़ में किसी गैंगस्टर या पुलिस मुलाजिम के घायल होने की जानकारी नहीं है।  इसके बाद पुलिस ने नाभा जेल ब्रेक कांड के मुख्य सरगना गैंगस्टर गुरप्रीत सिंह सेखों और उसके तीन साथी मनवीर सिंह सेखों, राजविंदर सिंह राजा उर्फ सुलतान गांव मंगेवाला, कुलविंदर सिंह ढिंबरी निवासी सिधाना को काबू कर लिया गया। पुलिस ने मौके से तीन पिस्तौल, एक बारह बोर बंदूक और दो वाहन कब्जे में लिए हैं। 

You May Also Like

English News