अभी अभी: मोदी का कर्ज उतारेंगे योगी? बुलाई काशी के अफसरों की बैठक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार अफसरों के साथ बैठकें ले रहे हैं, वह पूरे सिस्टम को तेजी से दौड़ाना चाहते हैं. अब मंगलवार को सीएम योगी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के अफसरों की एक बैठक बुलाई है. इस बैठक में वाराणसी की सड़कों, बिजली, पानी और गंगा के मुद्दे पर चर्चा की जा सकती है.

बड़ी खबर: SBI में है अगर आपका अकाउंट, तो जरुर पढ़े ये खबर

मोदी का कर्ज उतारेंगे योगी?
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में एक बैठक के दौरान कहा था कि कोई किसी संत को भीख भी नहीं देता लेकिन उनकी पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें पूरा प्रदेश सौंप दिया है. अब योगी आदित्यनाथ वाराणसी में अपने काम के जरिये शायद पीएम मोदी को तोहफा देना चाहते हैं.

आज होनी है पहली कैबिनेट बैठक
गौरतलब है कि मंगलवार को ही योगी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक भी होगी, इस बैठक में योगी सरकार कई अहम फैसले ले सकती है. इनमें किसानों की कर्ज माफी का मुद्दा सबसे अहम माना जा रहा है. वहीं सूत्रों की मानें तो पहली कैबिनेट बैठक में कर्ज माफी के अलावा, गाजीपुर में स्टेडियम, बूचड़खानों पर भी कई फैसलें लिये जा सकते हैं.

गन्ना किसानों से जुड़े लोगों पर कार्रवाई
इससे पहले योगी सरकार ने गन्ना समिति से जुड़े सभी गैर सरकारी लोगों का नामांकन रद्द कर दिया है. इसके तहत कुल 355 लोगों को कार्यमुक्त कर दिया गया है. इन 355 पदों पर नई नियुक्ति की जाएगी. गन्ना किसानों को सीधे भुगतान के तहत यह फैसला काफी अहम माना जा रहा है.

देर रात तक योगी ने की बैठक
वहीं राजधानी लखनऊ में सोमवार को देर रात तक सीएम आदित्यनाथ योगी और उनके कैबिनेट मंत्रियों के साथ अधिकारियों की बैठक चलती रही, जहां सीएम योगी ने सभी विभागों के सचिवों से हर चीज की खबर लेने के साथ आगे के रोड मैप पर चर्चा की. वहीं योगी सरकार ने 5 साल में 10 लाख नए रोजगार पैदा करने का लक्ष्य रखा है.

You May Also Like

English News