मोदी के 3 साल: नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक को सरकार बताएगी अपनी कुछ उपलब्ध‌ि

पीएम मोदी के 3 साल पूरे होने पर भाजपा की ओर से चलाए जाने वाले सरकार की उपलब्ध्यिों के प्रचार अभियान में नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राईक प्रमुख औजार के रूप में रहेंगे। सरकार की उपलब्ध्यिों के प्रचार के लिए पार्टी के मीडिया विभाग ने 22 पेज की एक पुस्तिका तैयार की है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के जरिए इसे जनता के सामने पेश किया जाएगा।मोदी के 3 साल: नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक को सरकार बताएगी अपनी कुछ उपलब्ध‌ि

यह भी पढ़े: अभी-अभी: अमिताभ बच्चन के घर में हुई मौत, बॉलीवुड में चारों तरफ मचा हाहाकार… 

वैसे तो सरकार के तीन साल के जश्न की शुरूआत पीएम मोदी शुक्रवार को गुवाहाटी से जनता को अपने काम का हिसाब देकर करेंगे। मगर इस दिन 26 मई को भाजपा अध्यक्ष देश की राजधानी दिल्ली से जनता के बीच मोदी सरकार के कामकाज की रिपोर्ट पेश करेंगे। आंकडो के जरिए यूपीए की पूर्ववर्ती सरकार को बौना साबित करने के साथ अपने सरकार को सर्वश्रेष्ठ जताने का प्रयास है।

मोदी सरकार का रिपोर्ट कार्ड तैयार करते समय पार्टी ने मुख्य रूप से भारतीय अर्थवयव्स्था के लिए मोदी के जरिए किए गए प्रयास और उनके प्रभाव,किसानों के लिए पहल, विश्व पटल पर भारत की धाक, पारदर्शिता, राज्यों का समान रूप से सशक्तिकरण, मेक इन इंडिया, सुधारों की ओर, भारत के लिए बुनियादी ढांचे का निर्माण, कौशल विकास, अल्पसंख्यक कल्याण और जन—धन और जन सुरक्षा सरीखे 11 अहम पडावों के जरिए तीन साल की उपलब्धियों को समेटने का प्रयास किया है।

अल्पसंख्यक विरोध का दाग धोने में जुटी पार्टी

भाजपा पर बेशक अल्पसंख्यक विरोधी होने का सियासी आरोप लगता है। मगर मोदी सरकार के जरिए अल्पसंख्यक कल्याण के लिए हुए कार्यों का पार्टी बतौर तीन साल की उपलब्धियों के रूप में जोर—शोर से करेगी। तो ट्रिपल तलाक पर सरकार के रूख का भी भाजपा ने जोरदार समर्थन का मन बनाया है। भाजपा ने अपने प्रचार सामग्री में कहा है कि पाकिस्तान को छोड लगभग सभी मुस्लिम देशों के साथ भारत के रिश्ते बेहत्तर हुए हैं। इसके अलावा अल्पसंख्यक मंत्रालय के जरिए चलाई जा रही योजनाओं नई रोशनी, जियो फारसी, सीखो और कमाओ, पढो परदेश और छात्रवृति योजनाओं का प्रचार सामग्री में खास जिक्र है।

भारतीय अर्थव्यवस्था के सुनहरे पल

 भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए मोदी की पहलों में भारत को विश्व में सबसे तेज गति से आगे बढने वाली अर्थव्यवस्था करार दिया है। तो साथ में जीएसटी, ग्लोबल एफडीआई कॉन्फिडेंस इंडेक्स में भारत के पायदान में उछाल, रूपया हुआ मजबूत, होम लोन ब्याज दरों में कमी,सस्ता हुंआ पेट्रोल, राजकोषीय घाटे में कमी, मुद्रा बैंक योजना,जन सुरक्षा कदम, नेशनल हेल्थ पॉलिसी,सुकन्या समृद्धि योजना, जीवन प्रमाण, 24 घंटे बिजली, उजाला और गरीब कल्याण के लिए उठाए गए कदमों की विस्तार से चर्चा है।

विश्व पटल पर भारत की धाक
मोदी शासन में विश्व पटल पर भारत की बनी धाक को प्रचारित करने के लिए भाजपा ने सर्जिकल स्ट्राईक, इसरो के जरिए एक साथ 104 उपग्रहों के लांच, योग को अंतराष्ट्रीस स्वीकृति, कूटनीतिक मोर्चों पर मिली सफलता और एमटीसीआर में मिली सदस्यता को प्रचारित करने का निर्णय लिया है।

किसानों के लिए पहल
किसानों के पहल के रूप में सरकार के प्रमुख कदम प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, पीएम कृषि सिंचाई योजना,नई यूरिया नीति, मूल्य स्थितिकरण कोष, रबी और खरीफ फसल की एमएसपी में हुई वृद्धि, गन्ना के समर्थन मूल्य में वृद्धि, गोकुल मिशन, मृदा स्वास्थ्य कार्ड, ई—मंडी, ई—संवाद, परंपरागत कृषि और 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के कदम को विशेष उल्लेख है।

पारदर्शिता
मोदी शासन में उठाए गए पारदर्शिता के कदमों को प्रचार के लिए पार्टी ने नोटबंदी को सबसे उपर रखा है। इसके अलावा भीम एप्प,डिजिटल भुगतान, टूजी एवं कोयला खदानों का दोबारा से आवंटन,गैर सरकारी कार्यों का निपटारा, सरकारी कार्यशैली में व्यापक बदलाव, मानव विकास सूचकांक में सुधार, शत्रु संपत्ति से जुडा अध्यादेश, बेनामी संपत्ति, वीवीपेट से चुनाव,चुनाव सुधार, भ्रष्टाचार पर प्रहार, कालाधन रोकने के उपाय और बैंडस की निलामी का उल्लेख जोरदार तरीके से किया जाएगा।

जन धन योजना

मोदी सरकार के जनसुरक्षा कदमों के रूप में भाजपा ने जनधन योजना,जन सुरक्षा कवच,दवाओं का मूल्य नियंत्रित करना,सस्ती दवाएं मुहैया कराना,प्रति व्यक्ति आय में बढोत्तरी, महिला सशक्तिकरण, स्वास्थ्य और वृद्धा पेंशन में के लिए किए गए कार्यों को प्रचारित करने का ताना—बाना बूना है।

कौशल विकास
कौशल विकास के तहत नेशनल स्किल डेवलपमेंट के कार्यों, पंडित मदन मोहन मालवीय शिक्षक प्रशिक्षण मिशन, ग्रामीण कौशल योजना, परंपरागत कला का विकास, उडान, नेशनल ई—लाईब्रेरी के गठन और बेरोजगारी खत्म करने के मोदी सरकार के उपायों का जिक्र होगा।

भारत के लिए बुनियादी ढांचे का निर्माण
भारत के बुनियादी ढांचे के विकास के रूप में बुलेट ट्रेन, रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने के कदम, रेलवे सुविधाओं, भारतमाला और सागरमाला परियोजना, बंदरगाहों का विकास, जल मार्ग विकास परियोजना,बिजली उत्पादन,सांसद आदर्श ग्राम योजना,गांव कस्बों का विकास, सोलर उर्जा, एलईडी वितरण, मनरेगा और उदय योजना का गुणगान किया जाएगा।

राज्यों का समान रूप से सशक्तिकरण 
गैर भाजपा शासित राज्यों को कमजोर करने के आरोपों से दूर मोदी ने अपने तीन साल के कार्यकाल में राज्यों के समान सशक्तिकरण के लिए कई अहम कार्य किए हैं। भाजपा ने इन्हें अपने प्रचार सामग्री में महत्वपूर्ण स्थान दिया है। इसके तहत वित्त आयोग की सिफारिशों को लागू करना,नीति आयोग का गठन और पूर्वोत्तर के विकास पर जोर का जिक्र है।

मेक इन इंडिया 
मेक इन इंडिया में रक्षा क्षेत्र में एफडीआई, स्मार्ट शहर, इंडस्ट्रियल कॉरिडोर, खादी एवं ग्रामोद्योग उत्पादों की बिक्री में उछाल, इनकम सुरक्षा और आसान डाक्यूमेंटेशन के कदम का प्रचार है।

सुधारों की ओर 
मोदी के सुधारों की कदम के रूप में भाजपा ने पिछडा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा प्रदान करने, ट्रिपल तलाक, पिछडों के विकास, किरासन तेल मुक्त देश की कल्पना,नमामि गंगे, स्वच्छ भारत अभियान और खुले में शौच से मुक्ति के लिए बनवाए गए शौचालयों के निर्माण का गुणगान किया है।

You May Also Like

English News