मोदी सरकार के 3 साल पुरे होने पर, आम आदमी पार्टी ने मोदी फीस्ट (दावत) का आयोजन किया..

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के बोर्ड ऑफिस चौराहे पर आम आदमी पार्टी ने रविवार को मोदी सरकार के तीन वर्ष पूरा होने पर मनाए जा रहे मोदी फेस्ट के विरोध में मोदी फीस्ट (दावत) का आयोजन किया. मोदी फीस्ट में AAP ने ठीक वैसे ही टेबल लगाई थीं, जैसी किसी दावत में बुफे के लिए लगाई जाती हैं. दावत में जुमला दही बड़ा, रोजगार का फटा पनीर, बिना चाशनी का डिजिटल रसगुल्ला, भ्रष्टाचार की मिलावटी नान, झूठ और फरेब का स्टार्टअप सलाद, कर्ज का कड़वा पान, महिला अत्याचार का सड़ा बैंगन भर्ता, महंगाई में डूबी दाल, बेटी बढ़ाओ, बेटी पढ़ाओ की दिखावटी जलेबी नाम के व्यंजन रखे गए थे. मोदी सरकार के 3 साल पुरे होने पर, आम आदमी पार्टी ने मोदी फीस्ट (दावत) का आयोजन किया गया..यह भी पढ़े: BJP को राष्ट्रपति चुनाव में 54% वोट मिलने का भरोसा, AIADMK के समर्थन की आस

विरोध प्रदर्शन कर रहे AAP नेताओं का कहना है कि मोदी सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर पूरे देश मे मोदी फेस्ट मनाया जा रहा है, जिस पर बीजेपी शासित प्रदेशों ने लगभग 2000 करोड़ रुपये विज्ञापन में खर्च किए हैं और जनता के बीच जमकर झूठ परोसा जा रहा है. इसी झूठ को बेनकाब कर जनता के बीच सच पहुंचाने के लिए आप ने यह अनोखा प्रदर्शन किया है.

मोदी फीस्ट प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे AAP के प्रदेश संगठन सचिव अमित भटनागर ने कहा कि इस अनूठे प्रदर्शन के जरिए मोदी सरकार के झूठे विकास का पर्दाफाश किया गया है. रोजगार, महिला सुरक्षा, स्टार्टअप इंडिया, महंगाई से मुक्ति आदि सिर्फ मोदी सरकार के जुमले हैं. प्रचार की राजनीति की जगह अगर कार्य की राजनीति की गई होती तो आज देश आर्थिक मंदी की तरफ नहीं बढ़ रहा होता.

आम आदमी पार्टी के नेता ने शिवराज सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कुपोषण से 30 हजार बच्चों की मौत और रोजाना पांच किसान आत्महत्या के बीच इस तरह का उत्सव मनाना राज्य सरकार के लिए शर्मनाक है. 26 मई को केंद्र की मोदी सरकार ने अपने तीन साल पूरे कर लिए हैं और सरकार के सभी मंत्री और तमाम बड़े नेता जनता के बीच जाकर लोगों को सरकार की उपलब्धियां बताते में जुटे हैं.

You May Also Like

English News