मोदी सरकार पर बरसे मनीष सिसोदिया

 दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मोदी सरकार पर उनके आदेश को लेकर जमकर निशाना साधा है, सिसोदिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था को बर्बाद करना चाहते हैं. इससे पहले केंद्र सरकार ने आम आदमी पार्टी के कुछ मंत्री और विधिन्न विभागों के कुछ मंत्रियों को हटाने का आदेश जारी किया था, जिसपर मनीष सिसोदिया ने अपना गुस्सा जाहिर किया है.नई दिल्ली: दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मोदी सरकार पर उनके आदेश को लेकर जमकर निशाना साधा है, सिसोदिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था को बर्बाद करना चाहते हैं. इससे पहले केंद्र सरकार ने आम आदमी पार्टी के कुछ मंत्री और विधिन्न विभागों के कुछ मंत्रियों को हटाने का आदेश जारी किया था, जिसपर मनीष सिसोदिया ने अपना गुस्सा जाहिर किया है.  सिसोदिया ने ने गृहमंत्रालय से अचानक उनके सलाहकार हटाए जाने की वजह पूछते हुए कहा है कि राघव चड्ढा और आतिशी मर्लेना को 1 रु माह के वेतन पर नियुक्त किया गया था, फिर उन्हें क्यों हटाया गया ? सिसदिया ने मोदी सरकार को निशाना बनाते हुए कहा है कि बीजेपी सरकार ने 'आप' की सलाहकार को इसलिए हटाया क्योंकि वो शिक्षा के क्षेत्र में सुधार का काम कर रही थीं.  सिसोदिया ने कहा है कि केंद्र सरकार ने इसकी जानकारी क्यों नहीं दी कि वे इन मंत्रियों और सलाहकारों को किन कारणों से हटा रहे हैं, इससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि केंद्र सरकार की मंशा क्या है?, वे चाहते हैं कि शिक्षा का कारोबार थप हो जाए और सब पकोड़े तलने लगें. आपको बता दें कि हटाए गए सलाहकारों में अतिशी मर्लेना, राघव चड्ढा, अरुणोदय प्रकाश, अमरदीप तिवारी, राम कुमार झा, प्रशांत सक्सेना, समीर मल्होत्रा, दिनकर अदीब और रजत तिवारी शामिल हैं.

सिसोदिया ने ने गृहमंत्रालय से अचानक उनके सलाहकार हटाए जाने की वजह पूछते हुए कहा है कि राघव चड्ढा और आतिशी मर्लेना को 1 रु माह के वेतन पर नियुक्त किया गया था, फिर उन्हें क्यों हटाया गया ? सिसदिया ने मोदी सरकार को निशाना बनाते हुए कहा है कि बीजेपी सरकार ने ‘आप’ की सलाहकार को इसलिए हटाया क्योंकि वो शिक्षा के क्षेत्र में सुधार का काम कर रही थीं.

सिसोदिया ने कहा है कि केंद्र सरकार ने इसकी जानकारी क्यों नहीं दी कि वे इन मंत्रियों और सलाहकारों को किन कारणों से हटा रहे हैं, इससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि केंद्र सरकार की मंशा क्या है?, वे चाहते हैं कि शिक्षा का कारोबार थप हो जाए और सब पकोड़े तलने लगें. आपको बता दें कि हटाए गए सलाहकारों में अतिशी मर्लेना, राघव चड्ढा, अरुणोदय प्रकाश, अमरदीप तिवारी, राम कुमार झा, प्रशांत सक्सेना, समीर मल्होत्रा, दिनकर अदीब और रजत तिवारी शामिल हैं.

You May Also Like

English News