मोबाइल न देने पर तीसरी कक्षा के छात्र ने उठा लिया खौफनाक कदम

मोबाइन न देने पर तीसरी कक्षा के छात्र ने खौफनाक कदम उठा लिया। छात्र के इस कदम से सनसनी फैल गई है। मामला हिमाचल के कुल्‍लू जिले के मनाली का है। मनाली उपमंडल के एक गांव में मोबाइल न देने पर तीसरी कक्षा के एक छात्र ने फंदा लगा दिया।मोबाइल न देने पर तीसरी कक्षा के छात्र ने उठा लिया खौफनाक कदमतूफान ‘ओखी’ पर अपडेट, गुजरात में राहुल की 3 रैलियां हुई रद्द….

जीवित होने की उम्मीद पर परिजन छात्र को अस्पताल ले गए लेकिन डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। फिलहाल मनाली पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 174 के तहत मामला दर्ज किया है।

नौ वर्षीय बच्चे के इस कदम से सनसनी फैल गई है। हर कोई घटना के बारे में जानकर हैरान है। जानकारी के अनुसार नेपाल मूल का दंपति मनाली उपमंडल के एक गांव में किराये के मकान में रहता है। दोनों एक स्थानीय होटल में बतौर माली काम करते हैं। इनकी एक बेटी व एक नौ वर्षीय बेटा है।

बीते दिन नौ वर्षीय बेटे को स्थानीय ग्रामीणों ने चोरी करते हुए पकड़ा और इसकी सूचना परिजनों को देकर छोड़ दिया। मां ड्यूटी पर थी जबकि बेटी कमरे से बाहर थी। कमरे में पिता व पुत्र मौजूद थे। 

पढ़ाई न करने पर पिता ने लगाई डांट
इस बीच छात्र ने पिता से मोबाइल देने की जिद की लेकिन पिता ने पढ़ाई न करने पर डांट लगाते हुए उसे पढ़ने के निर्देश दिए और बाद में आकर पढ़ा हुआ सुनाने को कहा। बाद में जब परिजन कमरे में पहुंचे तो उन्होंने बच्चे को फंदे पर लटका हुआ पाया।

फंदे से उतारकर परिजन उसे अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और कमरे की तलाशी ली। हालांकि पुलिस को मौके से किसी भी प्रकार का सुसाइड नोट नहीं मिला है।

जांच में सामने आया है कि छात्र ने दुपट्टे का फंदा बनाकर सीलिंग फैन की कुंडी से बांधा और जान दे दी। डीएसपी मनाली पुनीत रघु ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है।

सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए जांच की जा रही है। शव में किसी भी प्रकार के चोट के निशान नहीं मिले हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। जांच के दौरान यदि तथ्य सामने आते हैं तो मामले में अन्य धाराएं भी लगाई जाएंगी। 

You May Also Like

English News