मोहम्मद शमी का क्रिकेट करियर ‘तबाह’ करना चाहती हैं हसीन जहां?

टीम इंडिया के तेज गेंदबाद मोहम्मद शमी और हसीन जहां का विवाद अब दिल्ली डेयरडेविल्स के सीईओ हेमंत दुआ तक पहुंच गया है. हसीन जहां ने दिल्ली डेयरडेविल्स से इंडियन पेसर शमी को इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2018) में ना खिलाने के लिए कहा है. इस मामले में हसीन जहां ने हेमंत दुआ से मुलाकात की. मुलाकात के बाद हसीन जहां ने बताया, मैंने अपनी बात हेमंत सर के सामने रखी और उनसे कहा कि जब तक हमारा पारिवारिक विवाद समाप्त नहीं हो जाता तब तक शमी को आईपीएल टीम में नहीं रखा जाना चाहिए.”मोहम्मद शमी का क्रिकेट करियर 'तबाह' करना चाहती हैं हसीन जहां?

बता दें कि मोहम्मद शमी को दिल्ली डेयर डेविल्स ने 3 करोड़ रुपए में रिटेन किया है. हाल ही में बीसीसीआई की एंटी करप्शन यूनिट ने मोहम्मद शमी को क्लीन चिट दे दी थी और बोर्ड ने उन्हें ग्रेड बी का अनुबंध दिया था. उन्हें आईपीएल में खेलने के लिए भी क्लीन चिट दे दी गई थी. बीसीसीआई से क्लीन चिट मिलने के बाद मोहम्मद शमी ने कहा था कि वह हमेशा अपने देश के लिए खेलना चाहते हैं. जबकि हसीन जहां के वकील ने एसीएसयू के नतीजों की जांच के लिए कहा था. 

ममता बनर्जी से मिली थीं हसीन जहां 
मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां इस पूरे मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से भी मिली थी, ताकि इस मामले में उन्हें सपोर्ट मिल सके. उधर, शमी ने अपने बैंक स्टेटमेंट दिखाकर सफाई दे रहे थे. ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद हसीन जहां ने शमी से कानूनी विवादों के निपटारे के लिए बीसीसीआई की मदद भी मांगी थी, लेकिन बीसीसीआई ने शमी को क्लीन चिट दे दी थी. 

हसीन जहां ने सीके खन्ना से भी मांगी मदद
बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना ने हसीन जहां से मुलाकात के बाद कहा, ”हसीन मुझसे मिलीं और कहा कि हम इस मामले को देखें. मैंने उनसे कहा कि यह उनका निजी मामला है और इसे पारिवारिक स्तर पर सुलझाना चाहिए. यही सबके हित में होगा.” 

उन्होंने कहा, ”हसीन ने मुझसे कहा कि मैं शमी पर दबाव डालूं. मैंने जवाब दिया कि बीसीसीआई का अधिकारी होने के नाते यह मेरे लिए संभव नहीं है.”

गौरतलब है कि हसीन जहां ने शमी पर मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न के आरोप लगाए थे और यह भी कहा था कि उनके एक्सट्रा मैरिटल रिलेशनशिप हैं. इसके अलावा हसीन ने शमी पर मैच फिक्सिंग और खुद की हत्या की कोशिश का आरोप भी लगाया था. इस मामले में तेज गेंदबाज के खिलाफ केस दर्ज किया गया. 

कार एक्सीडेंट में घायल हुए शमी
बीसीसीआई से क्लीन चिट मिलने के बाद मोहम्मद शमी देहरादून में प्रैक्टिस कर रहे थे. देहरादून से नई दिल्ली आते हुए शमी दुर्घटनाग्रस्त हो गए थे. बाद में हसीन जहां शमी से मिलने पहुंची थी, लेकिन मीडिया से बात करते हुए हसीन जहां ने शमी पर धमकी देने का आरोप लगाया. हसीन ने कहा कि वह दुर्घटना होने के बाद शमी से मिलने गई थीं, लेकिन उन्होंने मुझसे मिलने से मना कर दिया और धमकी देते हुए कहा कि वह मुझे कोर्ट में देख लेंगे. 

हालांकि, बाद में शमी और जहां की मुलाकात हुई. जहां का कहना है कि शमी मीडिया की सहानुभूति हासिल करने की कोशिश कर रहा है. वह मेरी और बेटी की कोई परवाह नहीं करता. मैं एक छोटे से गेस्ट हाउस में रह रही हूं लेकिन कभी मुझसे और मेरी बेटी से मिलने की कोशिश नहीं की.

 

You May Also Like

English News