मोहर्रम को लेकर पुलिस ने कसी कमर, चप्पे-चप्पे पर रहेगी पुलिस की नज़र!

लखनऊ: चंद रोज मेें शुरू होने वाले मोहर्रम पर राजधानी लखनऊ के पुराने लखनऊ में चप्पे-चप्पे पर पुलिस मुस्तैद रहेगी। अराजक तत्वों पर खास निगाह रखने के लिए पुलिस के लोग सादी वार्दी में भी मौजूद रहेंगे। मोहर्रम को लेकर पुलिस ने अपनी कमर कस ली है। पुराने शहर को जोन व सेक्टर में बांट दिया जायेगा। मोहर्रम पर निकलने वाले जुलूसों में ड्रोन कैमरे का प्रयोग किया जायेगा।


पुराने लखनऊ के संवेदनशील इलाकों को चिन्हित कर चुकी राजधानी की पुलिस इस बार बहुत ही सजग है। लिहाजा पहले से ही पुलिस ने अराजक तत्वों से निपटने का अपना खाका तैयार कर लिया है। संवेदनशील इलाकों के प्रत्येक घर व संदिग्ध स्थानों पर सुरक्षा के लिए जवान अत्याधुनिक असलहों से लैस मुस्तैदी से डटे रहेंगे।

इन जवानों के पास अत्याधुनिक असलहे भी होंगे। ज्यादातर इलाकों की वीडियो रिकॉर्डिंग होगी। पुलिस ने मोहर्रम की सुरक्षा को लेकर पूरा खाका तैयार कर लिया है। पीएसी व आरएएफ के अलावा बाहरी जिलों से भी फोर्स को मंगवाया गया है।

इनके हवाले होगी सुरक्षा व्यवस्था
मोहर्रम को लेकर पुराने लखनऊ में जोन व सेक्टर स्कीम लागू कर दी जायेगी। पुराने शहर को 5 जोन व 18 सेक्टर में बांटा गया है। हर जोन व सेक्टर का प्रभारी प्रशासनिक अधिकारी व पुलिस अधिकारी को बनाया गया है। एसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि इस बार मोहर्रम को लेकर सुरक्षा के मद्देनजऱ हर बार से अधिक फोर्स रहेगी।

सुरक्षा के लिए 22 एडिशनल एसपी, 49 सीओ, 25 इंस्पेक्टर, 16 थानाध्यक्ष व कोतवाल, 12 एसएसआई, 160 दारोगा, 10 महिला दारोगा, 160 हेड कांस्टेबिल, 1400 सिपाही और 20 कम्पनी पीएसी के अलावा आरएएफ भी मौजूद होगी।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने भीड़ पर पैनी नजऱ बनाये रखे के लिए 4 ड्रोन कैमरे की व्यवस्था की है। इसके अलावा करीब 43 सीसीटीवी कैमरे संवेदनशील व अतिसंवेदनशील प्वाइंट पर लगाये गये हैं।

इसके अलावा अलग से 20 चार पहिया स्पेशल मोबाइल व 8 दो पहिया स्पेशल मोबाइल वाहन 24 घंटे इलाके में गश्त करेंगे। वहीं इस बारे में आग बुझाने वाली फायर टेण्डर बाइक को भी थानों को देने के लिए कहा है।

You May Also Like

English News