बनना चाहते है धनवान, तो इन तीन बातों का रखे हमेशा ख्याल !

बनना चाहते है धनवान, तो इन तीन बातों का रखे हमेशा ख्याल ! वैसे तो बहुत से लोग ऐसे होंगे जिन्होंने अपने जीवन में रामायण या रामचरितमानस जरूर पढ़ा होगा . पर आज जो हम आपको बताने जा रहे है उसके बारे में आपने पहले कभी नहीं सुना होगा . जी हां रामायण का एक प्रसंग, ज‌िसमें रावण की बहन सूर्पणखा राम और लक्ष्मण से व‌िवाह करने की इच्छा जाहिर करती है . तब राम और लक्ष्मण जी ने सूर्पणखा से कहा क‌ि वह उनकी ये इच्छा पूरी नहीं कर सकते . साथ ही बातों बातों यह भी बताया क‌ि कुछ पुरुषों की इच्छाएं कभी पूरी नहीं हो सकती हैं . वैसे आपको बता दे इन इच्छाओं का संबंध धन से ही है . ये बात रामायण में लक्ष्मण जी के जरिये ही बताई गयी है कि ऐसे कौन से व्यक्ति है ,जो कभी धनवान नहीं बन सकते या जिनके पास हमेशा धन की कमी रहेगी . आप भी यहाँ जानिए कौन है वो व्यक्ति ?

सिखों के गुरु गुरुनानक देव ने मीठा कर दिया था कुएं का पानी

बनना चाहते है धनवान, तो इन तीन बातों का रखे हमेशा ख्याल !

१.नशा करने वाले .. यदि शास्त्रो की माने तो उनके अनुसार, रामायण में ये बताया गया है कि जो लोग नशा करते है या नशीली चीज़ों का सेवन करते है, वो अपने जीवन में कभी धनवान नहीं बन सकते . इतना ही नहीं यदि उनके पास लाखों का खजाना भी होगा तो भी उनके पास धन की कमी हमेशा ही रहेगी . इसलिए यदि ऐसे व्यक्तियों को धनवान बनने की इच्छा है तो उन्हें नशे से दूर रहना ही होगा .

२.चरित्ररहित .. यदि कोई व्यक्ति किसी परायी स्त्री या पुरुष से सम्बन्ध रखे तो वो कभी धनी नहीं हो सकती . ऐसे व्यक्ति न केवल चरित्रतरहित होते है बल्कि ये लोग बिना सोचे समझे ही धन भी लूटा देते है . केवल इतना ही नहीं ऐसे व्यक्तियों को मरने के बाद भी मोक्ष की प्राप्ति नहीं होती 

इन अवगुणों के चलते व्‍यक्ति कभी नहीं बन सकता है धनवान

३.लालची व्यक्ति ..इस दुनिया में धन पाने की इच्छा तो सबकी होती है . पर कई बार धन पाने की चाहत में हम अपनी मर्यादा और अपनी अच्छाई भूल ही जाते है . केवल धन के पीछे ही भागते रहते है . यदि पैसो की लालच में आकर हम दूसरो को अपमानित करते है तो धन भी कभी हमारा सम्मान नहीं करता . यानि वो व्यक्ति कभी धनवान नहीं बन सकता जो लालची हो और लालच में आकर बुराई की राह पर चल पड़े . इसलिए कभी अपनी सकारात्मक सोच न भूले .

 

 

 

You May Also Like

English News