यमुना में घटा जलस्तर, लोहे का पुल चालू होने से ट्रेनों का आवागमन शुरू

यमुना का जलस्तर कम होने से बुधवार को हालात बदले नजर आए। बुधवार को यमुना का जलस्तर कम हुआ तो लोहे के पुल पर ट्रेन का आवागमन फिर से शुरू हो गया है, हालांकि, अन्य वाहनों का आवागमन अभी भी बंद है। वहीं राहत की बात यह है कि हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से पानी अब कम छोड़ा जा रहा है। यमुना का जलस्तर बढ़ने से मंगलवार को यमुना का जलस्तर 206.05 मीटर तक पहुंच गया था और यमुना खतरे के निशान से 1.22 मीटर ऊपर बह रही थी।यमुना का जलस्तर कम होने से बुधवार को हालात बदले नजर आए। बुधवार को यमुना का जलस्तर कम हुआ तो लोहे के पुल पर ट्रेन का आवागमन फिर से शुरू हो गया है, हालांकि, अन्य वाहनों का आवागमन अभी भी बंद है। वहीं राहत की बात यह है कि हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से पानी अब कम छोड़ा जा रहा है। यमुना का जलस्तर बढ़ने से मंगलवार को यमुना का जलस्तर 206.05 मीटर तक पहुंच गया था और यमुना खतरे के निशान से 1.22 मीटर ऊपर बह रही थी।   हथिनी कुंड में यमुना का जल स्तर कम हुआ   उल्लेखनीय है कि पहले हथिनी कुंड बैराज से अधिक पानी छोड़े जाने के कारण दिल्ली सरकार के सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग ने मंगलवार को यमुना का जलस्तर 206.50 मीटर तक बढ़ने की चेतावनी जारी की थी, लेकिन जल स्तर 206.05 मीटर पर पहुंचकर स्थिर हो गया है। विभाग के अनुसार हथिनी कुंड में यमुना का जल स्तर कम हुआ है इसलिए वहां से पानी पहले के मुकाबले बहुत कम छूट रहा है।     दिल्ली में टला नहीं है बाढ़ का खतरा, अभी और उफान मारेगी यमुना, रहें सतर्क यह भी पढ़ें पानी आना हुआ कम   रात आठ बजे 28126 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। वहीं 24 घंटे में कुल 42,947 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। इससे पहले सोमवार को कुल 2,41,656 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। इस तरह यमुना में अब पानी आना कम हो गया है।   दिल्ली: बाढ़ के खतरे को देखते हुए सैकड़ों परिवारों को किया गया शिफ्ट, लोग बोले- नाकाफी हैं इंतजाम यह भी पढ़ें स्थिर रहेगा जल स्तर  विभाग का कहना है कि मौजूदा हालात को देखते हुए यमुना का जल स्तर अभी स्थिर रहेगा। एक-दो दिनों में उसमें गिरावट हो सकती है। यमुना में उफान के कारण अब तक करीब 10 हजार परिवारों को झुग्गियों से हटाया गया है। उन लोगों के आश्रय के लिए करीब 1149 टेंट लगाए गए हैं।

हथिनी कुंड में यमुना का जल स्तर कम हुआ 

उल्लेखनीय है कि पहले हथिनी कुंड बैराज से अधिक पानी छोड़े जाने के कारण दिल्ली सरकार के सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग ने मंगलवार को यमुना का जलस्तर 206.50 मीटर तक बढ़ने की चेतावनी जारी की थी, लेकिन जल स्तर 206.05 मीटर पर पहुंचकर स्थिर हो गया है। विभाग के अनुसार हथिनी कुंड में यमुना का जल स्तर कम हुआ है इसलिए वहां से पानी पहले के मुकाबले बहुत कम छूट रहा है।

पानी आना हुआ कम 

रात आठ बजे 28126 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। वहीं 24 घंटे में कुल 42,947 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। इससे पहले सोमवार को कुल 2,41,656 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। इस तरह यमुना में अब पानी आना कम हो गया है।

स्थिर रहेगा जल स्तर

विभाग का कहना है कि मौजूदा हालात को देखते हुए यमुना का जल स्तर अभी स्थिर रहेगा। एक-दो दिनों में उसमें गिरावट हो सकती है। यमुना में उफान के कारण अब तक करीब 10 हजार परिवारों को झुग्गियों से हटाया गया है। उन लोगों के आश्रय के लिए करीब 1149 टेंट लगाए गए हैं।

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com