प्रोटीन रिच टोफू सोया पनीर खाएं और मजबूत बनें

कैल्शियम और प्रोटीन से भरपूर tofu सोया पनीर बढ़ते बच्चों से लेकर pregnent महिलाओं और बुजुर्गों तक के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

img_20161204114701

टोफू को सोयाबीन का पनीर भी कहा जाता है। इसे सोया दूध से बनाया जाता है। टोफू Body में कैल्शियम और प्रोटीन के स्तर को

 
टोफू प्रोटीन का एक बेहतरीन स्रोत है। सिर्फ आधे कप टोफू से हमें 10 ग्राम प्रोटीन मिलता है। इतना ही नहीं इस 10 ग्राम प्रोटीन में 88 कैलोरी एनर्जी होती है। यह एनर्जी बिना त्वचा वाले एक चिकन से सिर्फ 45 कैलोरी कम होती है। टोफू में जिंक, आयरन, सेलेनियम, पौटेशियम और अन्य कई विटामिन और मिनरल्स भी पाए जाते हैं। टोफू से शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है।
अगर आप मांस की जगह टोफू का सेवन करेंगे तो ट्राइग्लिसराइड और कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो जाएगा। इसके अलावा इसमें मिलने वाले एंटीऑक्सीडेंट शरीर में पैदा होने वाले फ्री रेडिकल्स को नष्ट करता है, जिससे आप उम्र से ज्यादा जवां नजर आते हैं। अगर पर्याप्त मात्रा में टोफू का सेवन किया जाए तो यह ब्रेस्ट कैंसर, कार्डियोवेस्कुलर डिजीज और ऑस्टियोपरोसिस को भी रोकता है।
हड्डियों को मजबूत बनाए
Tofu  खाने के अनेक फायदे में एक हड्डियों की मजबूती भी है। टोफू मसल्स के साथ हड्डियों को भी मजबूत बनाता है। इसमें पाये जाने वाले proteen  और मिनरल्स हड्डियों को मजबूत बनाये रखते हैं। इसका उचित मात्रा में सेवन महिलाओं के लिए भी फायदेमंद होता है। जिम जाने वाले व्यक्तियों के लिए भी यह बॉडी बिल्डिंग का अच्छा ऑप्शन हो सकता है। 
मांसाहार का अच्छा विकल्प
टोफू मांस का अच्छा विकल्प होने के कारण शाकाहारियों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। एक शोध से पता चला है कि नियमित और पर्याप्त मात्रा में टोफू का सेवन करने वाले मांस खाने वालों की तुलना में ज्यादा प्रोटीन लेते हैं। इसमें वह सब पाया जाता है जो मीट में होता है। इसमें अमीनो एसिड और आइसोफ्लेवोनीस पदार्थ पाया जाता है जिससे मसल्स तेजी से विकसित होने लगती हैं।
 

You May Also Like

English News