यूएस के इशारों पर जमात-उद-दावा पर हो रही कार्रवाई: हाफिज सईद

मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड और आतंकी हाफिज सईद का कहना है कि अमेरिका ने उसकी संस्था के खिलाफ षड्यंत्र रचा है। यही कारण है कि पाकिस्तानी सरकार उसके खिलाफ कार्रवाई कर रही है। हाल ही में पेरिस में हुई वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) की बैठक में टेरर फंडिंग के मामले में पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में डाला गया uw। बता दें कि इससे पहले एफएटीएफ ने पाकिस्तान को आतंक का दाग धोने के लिए तीन महीने का समय दिया था।यूएस के इशारों पर जमात-उद-दावा पर हो रही कार्रवाई: हाफिज सईद

इसपर सईद का कहना है कि राष्ट्रपति अध्यादेश जारी करके जमात-उद-दावा के देशभक्ति कार्यों को अयोग्य ठहरा दिया गया है क्योंकि अमेरिका और बहुत सी दूसरी बाहरी ताकतें हमारे द्वारा शैक्षणिक संस्थानों, एंबुलेंस और अस्पताल के जरिए पाकिस्तान में किए जा रहे स्वयंसेवी काम से खुश नहीं हैं। हमने देश को अमेरिका के खिलाफ एकजुट किया है। इसी वजह से अमेरिकी प्रशासन देश में किए जा रहे जमात के काम को बर्दाश्त करने के लिए तैयार नहीं है।

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने इस साल के शुरू में पाकिस्तान को दी जाने वाली 1625 करोड़ रुपये की सैन्य सहायता पर रोक लगाने की घोषणा की थी। अमेरिका लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक आतंकी सरगना हाफिज सईद पर पाकिस्तान के कार्रवाई नहीं करने से खफा है। भारत और अमेरिका सईद को मुंबई हमले का मास्टरमाइंड मानते हैं। लिहाजा सईद को वैश्विक आतंकी घोषित किया गया है और उस पर एक करोड़ रुपये का इनाम भी रखा गया है।

पिछले साल पाकिस्तान में नजरबंदी से रिहा किए गए सईद के सिर पर करीब 65 करोड़ रुपये का ईनाम है। सईद ने कहा कि यदि पाकिस्तान अमेरिका की मांगों के आगे ऐसे ही झुकता रहा तो वह दिन दूर नहीं है जब ऐसी ताकतें हमें हमारे परमाणु कार्यक्रम को खत्म करने के लिए कहेंगी। 

You May Also Like

English News