अभी अभी: CM योगी आदित्यनाथ ने कहा- यूपी के लिए चार लाख करोड़ रुपये का पर्याप्‍त नहीं है बजट…

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चार लाख करोड़ रुपये के प्रदेश के बजट से जन अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतरा जा सकता है। अच्छी सड़क, 24 घंटे बिजली, अच्छी पेयजल सुविधा, अच्छा पब्लिक ट्रांसपोर्ट, ठीक ड्रेनेज सिस्टम, साफ-सफाई सभी लोग चाहते हैं। 24 घंटे बिजली सभी को चाहिए, लेकिन बिल न देना पड़े।अभी अभी: CM योगी आदित्यनाथ ने कहा- यूपी के लिए चार लाख करोड़ रुपये का पर्याप्‍त नहीं है बजट...प्रियंका गांधी पर विश्वास ने किया पलटवार, कहा- 1984 के दंगों पर क्यों नहीं खौला था खून?

हम साफ-सफाई तो चाहते हैं भले अपने घर का कूड़ा सड़कों पर फेंक दें। सभी चाहते हैं कि यूपी में विकास व औद्योगीकरण हो। इसलिए हम यूपी का बजट 10 लाख करोड़ रुपये का चाहते हैं।

मुख्यमंत्री शनिवार को जीएसटी दिवस व इंस्टीट्यूट ऑफ  चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया के स्थापना दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

डॉ. राम मनोहर लोहिया नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में योगी ने कहा कि जीएसटी आर्थिक समानता की दिशा में ऐतिहासिक कदम है। जीएसटी लागू हो जाने से हमें कई सारे अप्रत्यक्ष करों की परतंत्रता से मुक्ति मिली है।

यूपी को जीएसटी से होगा सबसे ज्यादा फायदा

योगी बोले, उत्तर प्रदेश को जीएसटी से सबसे ज्यादा फायदा मिलेगा, क्योंकि यह सबसे बड़ा उपभोक्ता बाजार है। अभी एक करोड़ लोग ही टैक्स देते हैं लेकिन जीएसटी लागू हो जाने से पांच करोड़ लोग अपना रजिस्ट्रेशन कराकर टैक्स जमा करेंगे।

अभी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग जिलों में सामान अलग-अलग रेट पर मिलता है, लेकिन जीएसटी लागू हो जाने से पूरे देश में एक मूल्य पर सामान मिलेगा। इससे न केवल उपभोक्ताओं को फायदा पहुंचेगा बल्कि व्यापारी भी लाभान्वित होंगे। पैसा आएगा तो देश के विकास में लगेगा। भारत आर्थिक महाशक्ति बनेगा।

इससे पहले केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने कहा कि जीएसटी से जो भी परेशानियां आएं, उनके बारे में बताएं, जीएसटी काउंसिल में उनका समाधान निकाला जाएगा। केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा कि मोदी सरकार राष्ट्रहित में कड़े फैसला लेना जानती है। जीएसटी देश के लिए बड़ा फैसला है।

चीन से प्रतिस्पर्धा के लिए 125 करोड़ देशवासियों का साथ जरूरी 

मुख्यमंत्री ने कहा, यदि हमें चीन से प्रतिस्पर्धा करनी है तो सभी 125 करोड़ देशवासियों को एक स्वर में बोलना होगा। आज जब राजनीतिक स्वार्थों के लिए राष्ट्रहित को दांव पर लगाने की होड़ मची हो, ऐसे में जीएसटी लागू करने का फैसला अभिनंदनीय है।

मोदी को लाइव सुना योगी ने
मुख्यमंत्री योगी ने उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल, महिला कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी व मुस्लिम वक्फ मंत्री मोहसिन रजा के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पूरा भाषण सुना।

प्रधानमंत्री दिल्ली में चार्टर्ड एकाउंटेंट को संबोधित कर रहे थे। इस कार्यक्रम के लाइव प्रसारण के लिए लखनऊ में दो बड़ी-बड़ी एलईडी स्क्रीन लगाई गई थीं।

You May Also Like

English News