यूपी चुनाव: पांचवें चरण में 12 जिलों की 51 सीटों के लिए मतदान आज

विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण में सोमवार को 12 जिलों की 51 सीटों के लिए मतदान होगा। इस चरण में 12 जिलों की 51 सीटों के 617 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला 18171826 मतदाता करेंगे। मतदान प्रात: सात से सायं पांच बजे तक होगा। मतदान के दौरान दिव्यांग व वृद्ध मतदाताओं के लिए विशेष व्यवस्था की गयी है।इस चरण के चुनाव में सभी की निगाहें अमेठी विधानसभा सीट पर लगी हैं जहां पर त्रिकोणीय मुकाबला है । इस सीट से कांग्रेस नेता संजय सिंह की पहली पत्नी गरिमा सिंह भाजपा और दूसरी पत्नी अमिता सिंह कांग्रेस के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं जबकि सपा सरकार के बहुचर्चित मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति ने इसे त्रिकोणीय बना दिया है।

51 विधानसभा सीटों के लिए होना है मतदान

पांचवें चरण में बलरामपुर, गोण्डा, फैजाबाद, अम्बेडकरनगर, बहराइच, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, बस्ती, संतकबीरनगर, अमेठी व सुलतानपुर की 51 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होना है। अम्बेडकरनगर की आलापुर सीट पर सपा प्रत्याशी के निधन के चलते अब इस सीट पर नौ मार्च को मतदान होगा।

इसके साथ ही फैजाबाद की रुदौली सीट का कुछ इलाका बाराबंकी में होने के कारण यहां के 14 मतदान केन्द्रों के 19 मतदेय स्थलों के लिए पोलिंग पार्टियों की रवानगी बाराबंकी से की गयी है। इन सीटों के 607 प्रत्याशियों, जिनमें से 40 महिला हैं, के भाग्य का फैसला 18171826 मतदाता करेंगे। इनमें से 9791140 पुरु ष, 8379745 महिला व 941 र्थड जेण्डर के मतदाता हैं।

पांचवें चरण में मतदाता की दृष्टि से सबसे बड़ा विधानसभा क्षेत्र संतकबीरनगर का मेंहदावल है, जहां 438106 मतदाता हैं। इसी तरह सबसे छोटा विधानसभा क्षेत्र अम्बेडकरनगर का टांडा है, जहां 304934 मतदाता हैं। अमेठी सीट पर सबसे अधिक 24 तथा कपिलवस्तु व इटवा में सबसे कम छह-छह प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

मुख्य निर्वाचन अधिकारी टी. वेंकटेश ने बताया कि मतदान को लेकर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किये गये हैं। मतदाताओं को मतदेय स्थलों पर कोई असुविधा न होने पाये, इसके लिए विशेष निर्देश जारी किये गये हैं। उन्होंने बताया कि शान्तिपूर्ण चुनाव को लेकर प्रदेश व देश की अंतरराष्ट्रीय सीमा को सील करने के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि मतदेय स्थलों पर निष्पक्ष मतदान के लिए 905 डिजिटल कैमरे, 978 वीडियो कैमरे लगाये गये हैं।

 

इसके साथ ही 1792 मतदान केन्द्रों से वेब कास्टिंग की व्यवस्था की गयी है। इसी तरह 2574 मतदान केन्द्रों पर माइक्रो आब्जर्वर लगाये गये हैं। वेंकटेश ने बताया कि इस चरण में 1619 मतदान केन्द्रों के 2351 मतदेय स्थलों को संवेदनशील के रूप में चिह्नित किया गया है। इसी तरह 1308 हैमलेट (मजरों) को संवेदनशील के रूप में चिह्नित किया गया है।

उन्होंने बताया कि मतदान में 22376 बैलेट यूनिटों व 21084 कण्ट्रोल यूनिटों का प्रयोग होगा। इसी तरह बहराइच, गोण्डा, बस्ती सदर, खलीलाबाद व अयोध्या विधानसभा क्षेत्र में 3901 वीवी पैट लगाये गये हैं। मतदान में 92152 मतदानकार्मिकों को लगाया गया है। मतदान पर नजर रखने के लिए 52 सामान्य प्रेक्षक, 13 व्यय प्रेक्षक व छह पुलिस प्रेक्षक लगाये गये हैं। इसके साथ ही 1442 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 180 जोनल मजिस्ट्रेट व 170 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तैनात किये गये हैं।

वेंकटेश ने बताया कि मतदान पर नजर रखने के लिए आयोग के कार्यालय में कण्ट्रोल रूम बनाया गया है, जहां आने वाली शिकायतों पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। मतदान के दौरान ईवीएम या वीवी पैट में आयी खराबी को तत्काल दूर करने के लिए सेक्टर मजिस्ट्रेटों के साथ इंजीनियरों को तैनात किया गया है, जो शिकायत आने पर तत्काल खराबी को दूर करेंगे।

इन सीटों के लिए पड़ेंगे वोट

इनमें बलरामपुर की तुलसीपुर, गैसड़ी, उतरौला व बलरामपुर (सु), गोण्डा की मेहनौन, गोण्डा, कटरा बाजार, कर्नलगंज, तरबगंज, मनकापुर (सु) व गौरा, फैजाबाद की रुदौली, मिल्कीपुर (सु), बीकापुर, अयोध्या व गोसाईगंज, अम्बेडकरनगर की कटेहरी, टाण्डा, जलालपुर व अकबरपुर सीटें हैं। अम्बेडकरनगर की आलापुर (सु) सीट के सपा प्रत्याशी के निधन के कारण यहां का चुनाव अब नौ मार्च को होगा।

इसी तरह बहराइच की बलहा (सु), नानपारा, मटेरा, महसी, बहराइच, पयागपुर व कैसरगंज, श्रावस्ती की श्रावस्ती व भिनगा, सिद्धार्थनगर की शोहरतगढ़, कपिलवस्तु (सु), बांसी, इटवा व डुमरियागंज, बस्ती की हरैया, कप्तानगंज, रूधौली, बस्ती सदर व महादेवा (सु) के लिए मतदान होगा। इसके अलावा संतकबीरनगर की मेंहदावल, खलीलाबाद व घनघटा (सु), अमेठी की जगदीशपुर (सु), गौरीगंज, अमेठी व तिलोई तथा सुलतानपुर की इसौली, सुलतानपुर, सदर, लम्भुआ व कादीपुर (सु) के लिए मतदान कराया जाएगा।

loading...

You May Also Like

English News