यूपी पुलिस का दावा, आंखे देखकर पहचान जाते हैं ‘रोमियो’

यूपी में योगी सरकार आने के बाद से मानों यूपी का चेहरा ही बदल गया। नए नए अभियान यूपी में आ गए हैं बहुत से अभियान आने वाले हैं। अब तक का सबसे ज्याद चर्चित अभियान है एंटी रोमियो। यूपी पुलिस का कहना है कि हम अपनी आँखों में सिर्फ रोमियो की पहचान कर सकते हैं, कर्तव्य पर यूपी पुलिस ने कहा “एक लड़का और एक लड़की कभी भी दोस्त नहीं हो सकते हैं। मेरठ एसपी आलोक प्रियदर्शी का कहनै है कि वह सिर्फ एक सुरक्षा की स्थापना कर रहे हैं। 

दरअसल, एंटी रोमियो अभियान के तहत यूपी पुलिस ने मनचलों के खिलाफ ‘ऐंटी-रोमियो स्क्वॉड’ बनाया है, जिसके चलते जगह-जगह मनचलों की धर पकड़ हो रही है। इसी बीच हर किसी के मन में एक सवाल आ रहा वो ये कि आखिर भरी महफिल में पुलिस रोमियो की पहचान कैसे करती है हो सकता है पुलिस किसी रोमियो को नहीं बल्कि किसी और को उठा लिया हो। 
तो इस सवाल का यूपी पुलिस ने कुछ इस तरह जवाब दिया। पुलिस ने कहा ‘अब किसी के चेहरे पर तो नहीं लिखा होता कि कौन रोमियो है। पर हमारी इतने साल की ड्यूटी है कि हम लड़कों की आंखों से, उनके चेहरे से और उनके खड़े होने के अंदाज से पहचान लेते हैं कि कौन शरीफ घर का है और कौन रोमियो है।’
इसी बीच यूपी पुलिस का एक और रंग देखने को मिला। जब स्क्वॉड ने गर्ल्स कॉलेज के बाहर खड़े लड़के से पूछताछ की और कहा कि एक लड़का और एक लड़की कभी दोस्त नहीं हो सकते। अगर तुम इतने ही अच्छे दोस्त हो तो तुम्हें लड़की के घर जाना चाहिए और उसके माता-पिता की इजाजत के बाद उससे बातचीत करनी चाहिए। सड़कों पर माहौल खराब मत करो।

You May Also Like

English News