यूपी में तूफ़ान का तांडव, 3 लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश में आंधी-तूफ़ान का कहर एक बार बरपा है, शनिवार शाम को उत्तर प्रदेश के फ़िरोज़ाबाद शहर में फिर तेज़ हवाएं चली जिससे कई जगह पेड़ उखड़ गए और बिजली के खम्बों को भी क्षति पहुंची. इन्ही आंधी-तूफानों के चलते शहर में कुछ जगह हादसे भी हुए, जिसमे 3 लोगों की मौत हो गई.  फिरोजाबाद के रामगढ़ इलाके के चनोरा गांव में घर बन रहा था और लेंटर डलने की तैयारी चल रही थी. अचानए आए आंधी-तूफान से लेंटर का जाल उखड़कर नीचे आ गिरा और निर्माणाधीन इमारत गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई.उत्तर प्रदेश में आंधी-तूफ़ान का कहर एक बार बरपा है, शनिवार शाम को उत्तर प्रदेश के फ़िरोज़ाबाद शहर में फिर तेज़ हवाएं चली जिससे कई जगह पेड़ उखड़ गए और बिजली के खम्बों को भी क्षति पहुंची. इन्ही आंधी-तूफानों के चलते शहर में कुछ जगह हादसे भी हुए, जिसमे 3 लोगों की मौत हो गई.  फिरोजाबाद के रामगढ़ इलाके के चनोरा गांव में घर बन रहा था और लेंटर डलने की तैयारी चल रही थी. अचानए आए आंधी-तूफान से लेंटर का जाल उखड़कर नीचे आ गिरा और निर्माणाधीन इमारत गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई.    माकन बनाने के काम में लगे मिस्त्री, मज़दूर और एक महिला की मौत हो गई है, जबकि वहीं की एक बच्ची गंभीर रूप से घायल हो गई है. दुर्घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय विधायक मौके पर पहुंचे और उन्होंने पीड़ित परिवार को 4 - 4 लाख रूपये का मुआवज़ा देने का ऐलान किया है. आगरा में भी तेज़ हवाओं से नुकसान हुआ है, हालाँकि वहां किसी की मौत की खबर नहीं है, लेकिन सड़क किनारे लगे होर्डिंग तेज़ हवाओं के चलते उखड़ गए, वहीं मथुरा में भी पेड़ वाहनों पर गिरे.     आपको बता दें कि इससे पहले भी देश भर में ख़राब मौसम ने भयानक तबाही मचाई थी,  जिसमे सैकड़ों लोगों कि जान चली गई थी. लेकिन यह खतरा अभी पूरी तरह से टला नहीं है, यह जानकारी मौसम विभाग ने दी है, मौसम विभाग ने पश्चिमी विक्षोभ का असर जम्मू-कश्मीर से पूर्वोत्तर राज्यों की ओर से स्थानांतरित होने के कारण असम सहित पूर्वोत्तर के कुछ इलाकों में अगले 24 घंटे तक चक्रवाती हवाओं की आशंका जताई है.

माकन बनाने के काम में लगे मिस्त्री, मज़दूर और एक महिला की मौत हो गई है, जबकि वहीं की एक बच्ची गंभीर रूप से घायल हो गई है. दुर्घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय विधायक मौके पर पहुंचे और उन्होंने पीड़ित परिवार को 4 – 4 लाख रूपये का मुआवज़ा देने का ऐलान किया है. आगरा में भी तेज़ हवाओं से नुकसान हुआ है, हालाँकि वहां किसी की मौत की खबर नहीं है, लेकिन सड़क किनारे लगे होर्डिंग तेज़ हवाओं के चलते उखड़ गए, वहीं मथुरा में भी पेड़ वाहनों पर गिरे. 

आपको बता दें कि इससे पहले भी देश भर में ख़राब मौसम ने भयानक तबाही मचाई थी,  जिसमे सैकड़ों लोगों कि जान चली गई थी. लेकिन यह खतरा अभी पूरी तरह से टला नहीं है, यह जानकारी मौसम विभाग ने दी है, मौसम विभाग ने पश्चिमी विक्षोभ का असर जम्मू-कश्मीर से पूर्वोत्तर राज्यों की ओर से स्थानांतरित होने के कारण असम सहित पूर्वोत्तर के कुछ इलाकों में अगले 24 घंटे तक चक्रवाती हवाओं की आशंका जताई है.

You May Also Like

English News