यूपी में नए सियासी समीकरण, बसपा फूलपुर व गोरखपुर में सपा को दे सकती है समर्थन

उत्तर-पूर्व में भगवा बयार के बीच यूपी में नए समीकरण बनते नजर आ रहे हैं। बसपा गोरखपुर व फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में सपा प्रत्याशियों का समर्थन कर सकती है।यूपी में नए सियासी समीकरण, बसपा फूलपुर व गोरखपुर में सपा को दे सकती है समर्थन

बसपा का एक बड़ा तबका 2019 के लोकसभा के चुनाव में भाजपा के खिलाफ विपक्षी एकता के लिए पैरवी कर रहा है। शनिवार को त्रिपुरा में वाम किला ढहने की सूचना के बाद अचानक बसपा के समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों के समर्थन की चर्चाएं तेज हो गईं। हालांकि बसपा के जिम्मेदार नेताओं ने इस तरह की किसी सूचना से इन्कार किया है।

बताया जा रहा है कि गोरखपुर और फूलपुर में हो रहे लोकसभा उपचुनाव के बारे में बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के जिम्मेदार नेताओं से फीडबैक लिया था। दोनों लोकसभा क्षेत्रों के जोनल कोऑर्डिनेटर से भी उनकी बात हुई थी। शनिवार को अचानक बसपा के सपा को समर्थन की चर्चाएं तैरने लगीं, क्योंकि बसपा के कई नेता भाजपा के खिलाफ विपक्षी एकता के पक्ष में थे।

कई बार हो चुकी है सपा और बसपा नेताओं की बातचीत

यहां तक कि सपा और बसपा के जिम्मेदार नेताओं की पर्दे के पीछे इस बारे में कई बार बातचीत भी हो चुकी थी। बसपा सुप्रीमो मायावती की सहमति मिलने के बाद स्थानीय स्तर पर जोनल कोऑर्डिनेटर व स्थानीय नेता एक-दो दिन में सपा प्रत्याशियों के समर्थन का एलान कर सकते हैं।

हालांकि बसपा के जिम्मेदार नेताओं ने ऐसे किसी आधिकारिक फैसले से इन्कार किया है। उनका कहना है कि हो सकता है मायावती ने दोनों लोकसभा क्षेत्रों के जोनल कोऑर्डिनेटर को सीधे निर्देशित किया हो।

You May Also Like

English News