यूपी विधानसभा: सत्र के दूसरे द‌िन ही सर्वसम्मत‌ि से जीएसटी ब‌िल पास किये

यूपी की 17वीं विधानसभा के प्रथम सत्र का दूसरा द‌िन पहले की अपेक्षा कम हंगामेदार रहा। सुबह कानून व्यवस्था को लेकर सदन में बहस हुई। जिस पर स्वयं सीएम योगी को आश्वासन देना पड़ा। योगी ने कहा कि मैं विश्वास दिलाता हूं कि यूपी में कानून का राज होगा।
वहीं, दूसरी ओर विधानसभा के दसरे दिन जीएसटी बिल भी पास हो गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश में ‘एक देश-एक कर’ की व्यवस्था लागू करने के लिए संसद की ओर से पारित अधिनियम पर राज्य विधानमंडल की सहमति के लिए यूपी वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) विधेयक-2017 विधानसभा सत्र के पहले द‌िन पेश ‌क‌िया था। इसमें नई व्यवस्था के प्रावधानों के साथ उसे लागू करने की प्रक्रिया तय की गई है।

वहीं सीएम योगी ने सदन में भूगर्भ जल के स्तर को सुधारने की बात कही। वहीं कानून व्यवस्था और मथुराकांड पर व‌िपक्ष ने हंगामा भी क‌िया। सीएम ने कहा क‌ि यूपी में अपराध में कमी आई है। अब अपराध‌ियों से अपराध‌ियों की तरह व्यवहार क‌िया जाएगा, सत्ता की आड़ में संरक्षण नहीं म‌िलेगा। सीएम ने ये भी कहा, मैं सदन को आश्ववसन देता हूं क‌ि यूपी में कानून का राज रहेगा। वहीं सहारनपुर कांड को लेकर कांग्रेस व‌िधायकों ने सदन से वाकआउट कर द‌िया।

बीजेपी व‌िधायक ने कहा, सदन में राज्यपाल को चोट पहुंचाने की कोश‌िश की गई उनकी गर‌िमा को ठेस पहुंचाई गई। इस पर नेता प्रत‌िपक्ष राम गोव‌िंद चौधरी ने कहा, हम कागजों पर जनता की समस्याएं ल‌िखकर लाए थे वही राज्यपाल तक पहुंचा रहे थे।

बता दें क‌ि व‌िधानसभा सत्र के पहले द‌िन सदन में जबरदस्त हंगामा हुआ था। व‌िपक्ष ने सीट‌ियां बजाई थीं साथ में राज्यपाल के ऊपर कागज के गोले भी फेंके थे। विधानसभा में उनके पहुंचने से पहले ही सपा और बसपा के सदस्य वेल में आ गए थे।

सपा सदस्यों की अगुवाई अखिलेश यादव और रामगोविंद चौधरी तथा बसपा सदस्यों की अगुवाई लालजी वर्मा और सुनील चित्तौड़ कर रहे थे। 11 बजे राज्यपाल के आने पर राष्ट्रगान हुआ। इसके बाद राज्यपाल ने जैसे ही अभिभाषण पढ़ना शुरू किया, सपा व बसपा के सदस्यों ने पोस्टर, तख्तियां व बैनर लहराते हुए जोरदार नारेबाजी शुरू कर दी थी

You May Also Like

English News