ये हैं दुनियां का सबसे छोटा हत्यारा, 8 वर्ष की उम्र में कर चूका हैं 3 बच्चों का बेरहमी से क़त्ल

‘सीरियल किलर’ यानी एक ऐसा हत्यारा जो एक के बाद एक कई क़त्ल कर चूका हैं. जब भी हम क़त्ल के बारे में सुनते हैं तो हमारा दिल दहल उठता हैं. एक खूंखार हत्यारे के बारे में सोचते ही हमारे मन में एक ऊँचे पुरे बड़े व्यक्ति की तस्वीर आने लगती हैं. यहाँ तक कि फिल्म और टीवी में भी इसी तरह के सीरियल किलर की छवि पेश की जाती हैं. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे हत्यारे से मिलाने जा रहे हैं जो ‘दुनियां का सबसे छोटा सीरियल किलर’ के नाम से मशहूर हैं. इस लड़के ने 8 वर्ष की उम्र में 3 हत्याओं को अंजाम दिया हैं. ये तीनो हत्याएं उसने जानबूझ कर और बहुत बेरहमी से की हैं. आइए इस छोटे सीरियल किलर की कहानी विस्तार से जानते हैं…

 ये हैं दुनियां का सबसे छोटा हत्यारा, 8 वर्ष की उम्र में कर चूका हैं 3 बच्चों का बेरहमी से क़त्लइनसे मिलिए, ये हैं अमरजीत साडा…

अमरजीत दिखने में तो एक आम बच्चे जैसा ही लगता हैं लेकिन इसका शैतानी दिमाग और हरकते किसी खूंखार हत्यारे से कम नहीं हैं. बिहार के बेगुसराय का रहने वाला अमरजीत जब 8 साल का था तो उसने अपने गाँव की एक 6 महीने की मासूम बच्ची ‘ख़ुशी’ की बेहरमी से हत्या कर दी थी.
जानकारी के मुताबिक 6 महीने की बच्ची ख़ुशी की माँ उसे पास की आंगनबाड़ी में कुछ देर के लिए छोड़ के बाजार गई थी. इस बीच अमरजीत की नज़र ख़ुशी पर पड़ी. जब आंगनबाड़ी के कर्मचारी अन्य काम में व्यस्त थे तो अमरजीत ने ख़ुशी को चुपके से उठा लिया और दूर खुले इलाके में ले गया ताकि उसके रोने की आवाज़ कोई ना सुन सके. इसके बाद अमरजीत ने एक ईंट उठाई और ख़ुशी के चेहरे पर तब तक मारता रहा जब तक की उस मासूम ने दम नहीं तोड़ दिया. इसके बाद अमरजीत ने ख़ुशी की बॉडी को जमीन में गड्डा खोद फेक दिया और उसे पत्तियों से ढक छिपा दिया.

इधर ख़ुशी की माँ को जब उसकी बच्ची नहीं मिली तो उसने शो मचाया. बाद में अमरजीत के आंगनबाड़ी में आने की बात सामने आई. ख़ुशी की माँ ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए अमरजीत का नाम शक के तौर पर लिखवा दिया. जब पुलिस ने अमरजीत को पकड़ा तो इस 8 साल के बच्चे में जरा भी खौफ या पछतावा नहीं था. उल्टा वो पुलिस वालो को देख मुस्कुराने लगा और बदले में उनसे एक बिस्किट माँगा.

इसके बाद जब पुलिस ने जांच पड़ताल की तो पता लगा कि ख़ुशी अमरजीत की तीसरी शिकार थी. इसके पहले वो दो और मासूमो की हत्यीं कर चूका हैं. अमरजीत ने पहली हत्या अपने ही मामा की 6 महीने की लड़की की करी थी. इसके बाद अमरजीत को हत्या करने का चस्खा लग गया. उस दौरान अमरजीत के घर वालो ने उसकी पुलिस में रिपोर्ट नहीं की थी. बाद में अमरजीत ने अपने पड़ोस के 8 महीने के एक बच्चे को अपना निशाना बनाते हुए मौत के घाट उतरा था.

अमरजीत की इन हरकतों को देखते हुए उसे एक मानसिक रोग विशेषज्ञ को भी दिखाया गया जिन्होंने जांच के बाद बताया कि अमरजीत मानसिक रूप से बिलकुल ठीक नहीं हैं. चुकी अमरजीत की उम्र कम थी इसलिए उसे बाल सुधार गृह में भेज दिया गया जहाँ उसे 18 वर्ष की उम्र तक रहना होगा. वर्तमान में अमरजीत किशोरावस्था में प्रवेश कर चूका हैं. हालाँकि उसकी ताज़ा मानसिक हालत के बारे में कोई लेटेस्ट अपडेट नहीं हैं. हम उमीद करते हैं कि इस बच्चे की मानसिक हालत जल्द से जल्द सुधर जाए वरना बड़ा होकर पता नहीं ये और कितने संगीन अपराध करेगा.

You May Also Like

English News