ये है अंबाजी मंदिर की खासियत, इतना लंबा सफर कर सी प्लेन से पहुंचे PM मोदी

गुजरात चुनाव प्रचार के आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बनासकांठा के अंबाजी मंदिर पहुंचे। यह मंदिर 52 शक्तिपीठों में से एक है, इसे शक्ति की देवी सती का मंदिर माना जाता है। हिंदुओं के पुराने और पवित्र तीर्थ स्थानों में से एक अंबाजी मंदिर गुजरात और राजस्थान की सीमा पर बनासकांठा के दांता में बना हुआ है। इसे 1200 साल पुराना बताया जाता है, 1975 में इसके जीर्णोधार का काम शुरू हुआ था जो फिलहाल जारी है।ये है अंबाजी मंदिर की खासियत, इतना लंबा सफर कर सी प्लेन से पहुंचे PM मोदी

बड़ी खबर: MRP से ज्यादा पर बेचा मिनरल वाटर तो रेस्टोरेंट मालिक को होगी जेल

मंदिर का शिखर 103 फीट ऊंचा है, जिसपर 358 स्वर्ण कलश सजे हुए हैं। अहमदाबाद से इस मंदिर की दूरी 100 किलोमीटर से ज्यादा है। बता दें कि मोदी आज साबरमती रिवर फ्रंट से सी प्लेन में बैठकर अंबाजी मंदिर तक पहुंचे थे। पीएम सी प्लेन से धरोई डैम पर उतरे थे, वहां से वह सड़क मार्ग से अंबाजी मंदिर पहुंचे थे।

बता दें कि मोदी पहले अहमदाबाद में रोड शो करना चाहते थे, लेकिन वहां की पुलिस ने उनको इजाजत नहीं दी थी। राहुल गांधी भी रोड शो करना चाहते थे लेकिन उनको भी इजाजत नहीं दी गई थी। इसके बाद राहुल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बीजेपी पर हमला बोला था।

You May Also Like

English News