योगिनी एकादशी 2018 आज है भगवान विष्णु को समर्पित ये व्रत जाने पूजा विधि आैर कथा

वैसे तो प्रत्येक मास में दो एकादशी पड़ती हैं यानि कुल 24 एकादशी होती हैं। इस क्रम में आषाढ़ मास की कृष्णपक्ष में पड़ने वाली एकादशी को योगिनी एकादशी कहते हैं। इसका व्रत भगवान विष्णु को समर्पित होता है। इस व्रत में पूजा पाठ के साथ दान का भी विशेष महत्व होता है। इस व्रत आैर  पूजा में चावल का प्रयोग वर्जित होता है। इस बार योगिनी एकादशी का मुहूर्त 8 जुलाई 2018 को रात्रि 23.30 बजे से प्रारम्भ हो कर 9 जुलाई 21.26 बजे तक रहेगा, लेकिन पूजन आैर  व्रत 9 तारीख  को  ही  किया जायेगा। वहीं व्रत के पारण का मुहूर्त अगले दिन 10 जुलार्इ को सुबह 05.33 से 8.15 बजे के बीच है। इस दिन के बाद भगवान शयन में चले जाते है। 

एेसे करें योगिनी एकादिशी पर पूजा

सबसे पहले याद रखें की ये व्रत पूर्ण सात्विक रह  कर  ही करना चाहिए। इसके बाद योगिनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु की मूर्ति रखकर श्री विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ करना चाहिए। साथ ही ॐ नमो भगवते वासुदेवाय महामंत्र का भी जाप करें। इसदिन पूजा और व्रत के साथ दान का भी अत्यंत महत्व माना जाता है। इस एकादशी को जल और अन्न का दान बहुत पुण्यकारी होता है। योगिनी एकादशी का व्रत करने वालों को पारण से पूर्व अन्न ग्रहण नहीं करना चाहिए। यानि इस दिन फलाहार के साथ व्रत ही रखना उत्तम है। कुछ लोग इस दिन निर्जल व्रत भी करते हैं। इस दिन श्री कृष्ण उपासना का भी महत्व है। ब्रम्ह मुहूर्त में श्री रामरक्षा स्तोत्र का पाठ करें। एेसी भी मान्यता है कि जो लोग किसी रोग से पीड़ित हैं वो उस दिन श्री विष्णु उपासना के साथ साथ श्री सुन्दरकाण्ड का भी पाठ करें इससे श्रेष्ठ फल मिलता है।

You May Also Like

English News