योगीराज के राज में भी चल रहा है सपा का गुंडाराज, गाय हांकी तो जो किया…जरुर पढ़े ये खबर

वाराणसी. सूबे में योगी सरकार आने के बाद से उम्मीद बंधी थी कि आये दिन होने वाली सपा समर्थकों की गुंडई से छुटकारा मिलेगा. लेकिन पीएम के संसदीय क्षेत्र में मामला कुछ उलटा ही नजर आ रहा है. जहाँ सूबे में बीजेपी समर्थक दलों की गुंडई के किस्से रोज सामने आ रहे हैं तो वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में समाजवादी पार्टी के नेताओं और समर्थकों की गुंडई से जनता परेशान है.योगीराज के राज में भी चल रहा है सपा का गुंडाराज, गाय हांकी तो जो किया...जरुर पढ़े ये खबर

ताजा मामला लंका भेलूपुर थाने के अंतर्गत आने वाले ब्रिज एन्क्लेव का है. जहाँ के रहने वाले प्रबोध नारायण राय का सर एक सपा समर्थक ने लाठी-डंडे से वार कर फोड़ दिया. प्रबोध की गलती सिर्फ इतनी थी कि उन्होंने एक सपा नेता के समर्थक के सड़क पर गया बाँधने का विरोध किया था. इस मामले में प्रबोध के परिजनों ने पुलिस को तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया है.

प्रबोध के भतीजे आनंद राय के अनुसार उनके चाचा शाम को सब्जी लेकर लौट रहे थे. रास्ते में वे पान खाने के लिए एक दुकान पर रुके. यह दुकान इलाके के निवासी सोमारू यादव के घर में स्थित है. इस दुकान के आगे सड़क की पटरी पर वह अपने दुधारू जानवरों को भी बांधता है. इससे आने जाने वाले राहगीरों को समस्या होती है. प्रबोध ने इसी पान की दुकान के आगे अपनी स्कूटी खड़ी की और पान खाने के लिए दुकान तक गए. इसी बीच सोमारू की गाय ने स्कूटी में आगे रखी सब्जी खानी शुरू कर दी.

इस प्रबोध ने उस गाय को हांक कर दूर कर दिया. पास में खड़े सोमारू को यह बात नगवार गुजरी और उसने लाठी डंडों से प्रबोध पर हमला कर दिया. इसमें प्रबोध के सर पर गंभीर चोटें आईं हैं. वहां खड़े लोगों ने प्रबोध के परिजनों को इस घटना के बारे में सूचित किया. परिजनों ने मौके पर पहुँच प्रबोध को इलाज के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया है.

जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है. पुलिस में मुकदमा दर्ज कराये जाने के बाद से सोमारू अपने परिजनों के साथ फरार है. बताया जाता है कि एक सपा नेता का समर्थन होने के कारण सोमारू आये दिन इलाके के लोगों से मारपीट करता रहता है और अपने शोपिंग काम्प्लेक्स में सीढ़ी बनाए के लिए उसने सरकारी जमीन पर कब्जा कर रखा है. वहीं एक दूसरे प्रकरण में गोलगड्डा में अतिक्रमण विरोधी दस्ते के पहुँचने पर सपा नेता और समर्थकों ने अतिक्रमण दस्ते को डरा धमका के भगा दिया.

अतिक्रमण दस्ता जैसे ही आदमपुर थाने के ठीक पास पहुंचा और यहां बनी सपा के एक कद्दावर समर्थक की पीली बिल्डिंग के आगे बढ़े हुए पक्के निर्माण को तोड़ना शुरू किया, समाजवादी पार्टी महानगर उपाध्यक्ष के भाई ने अपने गुर्गो के साथ अतिक्रमण दस्ता पर दंबगई करनी शुरू कर दी. सपा नेताओं की दंबगई के आगे अतिक्रमण दस्ते की एक ना चली और अतिक्रमण दस्ते को बैरंग वापस लौटना पड़ा. यह पीली बिल्डिंग सपा के महानगर अध्यक्ष इकबाल अंसारी के भाई की है.

You May Also Like

English News