योगी का नया एक्शन, अब अकेले बैठे मिले लड़का- लड़की तो परिवार से करवानी होगी बात

योगी आदित्‍यनाथ ने जैसे ही उत्‍तर प्रदेश में मुख्‍यमंत्री का पद संभाला उन्‍होंने प्रदेश में एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड के गठन का आदेश दे दिया था। उनका आदेश मिलते ही यूपी पुलिस हरकत में आ गई है।

पूरे प्रदेश की पुलिस इस वक्‍त मनचलों के खिलाफ काफी सक्रिय नजर आ रही है। प्रदेश में एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड ने काम करना भी शुरु कर दिया है। लड़कियों और महिलाओं के साथ छेड़खानी करने वालों की धरपकड़ तेज हो गई है। 
भारतीय जनता पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने भी प्रदेश की जनता से वादा किया था कि उनकी सरकार बनते ही एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड का गठन किया जाएगा। भारतीय जनता पार्टी का दावा है कि एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड के गठन से महिलाओं और स्कूल-कॉलेज जाने वाली लड़कियों से होने वाली छेड़खानी को रोकने में बड़े पैमाने पर मदद मिलेगी।
उत्‍तर प्रदेश का दूसरा एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड  मेरठ की सड़कों पर नजर आया। हालांकि दूसरे जिलों से भी खबरें आ रही हैं कि वहां भी एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड सक्रिय हो गया है। योगी आदित्‍यनाथ के आदेश के बाद पुलिस ने मेरठ के शैक्षिक संस्थाओं और सार्वजनिक स्थलों पर एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड की तैनाती की।
जिसका मकसद यहां पर होने वाली छेडखानी को रोकना था। एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड इस वक्‍त प्रदेश के उन जिलों में सबसे ज्‍यादा सक्रिय हो गया है जहां से छेड़खानी की शिकायतें सबसे ज्‍यादा आती हैं। हालांकि जब पुलिस ने कुछ एक जगहों पर मनचलों और मजनुओं की धरपकड़ शुरु कर उनके  अभिभावकों को बुलाया तो उन्‍होंने उल्‍टा पुलिस पर ही आरोप मढना शुरु कर दिया।
जिन मनचलों और मजनुओं को पुलिस ने पकड़ा था उनके अभिभावकों का कहना था कि पुलिस उनके बच्‍चों को बेवजह परेशान कर रही है। लेकिन, ये लोग इस बात का कोई जवाब नहीं दे पाए कि ये लड़के गर्ल्स स्‍कूल और कॉलेज के बाद बेवजह क्‍यों मंडरा रहे थे। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के आदेश पर मेरठ में जो एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड का गठन किया गया 
है। इस टीम में तीन से चार पुलिसकर्मियों को शामिल किया गया है। जिसमें महिला पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। योगी आदित्‍यनाथ के आदेश के बाद लखनऊ में आईजी आफिस से आदेश आया और बताया कि शुरुआत में एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड का गठन 11 जिलों में किया गया है।  एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड ने स्‍कूल और कॉलेज के आसपास मंडरा रहे लड़कों से पूछताछ भी की।  
योगी आदित्‍यनाथ के इस कदम की पूरे राज्‍य में जमकर तारीफ हो रही है। योगी आदित्‍यनाथ के आदेश की मुखालफत सिर्फ वही लोग कर रहे हैं जो इसमें फंस रहे हैं। ऐसे लोगों का कहना है कि पुलिस को इस वक्‍त प्रदेश में बाइक में बैठा लड़का मजनू नजर आ रहा है। जबकि एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड का कहना है कि वो ऐसे ही किसी को नहीं पकड़ ले रहे हैं। जांच पड़ताल और लड़कों की हरकत के बाद ही उन्‍हें पकड़ा जा रहा है।
कुछ लड़कों ने अपने परिजनों का नंबर ही गलत बताया। वहीं कुछ जगहों पर एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉयड ने मजनुओं और मनचलों को वार्निंग देकर भी छोड़ दिया। लेकिन, ऐसे लोगों के नाम पता और मोबाइल नंबर पुलिस जरुर अपनी डायरी में लिख रही है ताकि भविष्‍य में अगर वो ऐसी हरकत करते हुए पकड़े जाएं तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सके। वो भी पूरे सबूत के साथ।

You May Also Like

English News