योगी का बड़ा ऐलान, सरकारी स्‍कूलों में योग शिक्षा देने पर होगा जोर

लखनऊ। प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ योगी ने स्‍कूली शिक्षा को लेकर चिंता जताई है। उन्‍होंने कहा है कि सरकारी स्‍कूलों की शिक्षा को सुधारने की जरूरत है। इसी सिलसिले में डिप्‍टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा ने एक नया ऐलान किया है। उन्‍होंने कहा है कि अब से सभी सरकारी स्‍कूलों में योग शिक्षा अनिवार्य होगी।

बड़ी खबर : होने वाली है पीएम मोदी के ख़ास सिपाही की हत्या, किसी भी पल हो सकता है हमला!

सरकारी स्‍कूलों में योग शिक्षा देने पर होगा जोर

डिप्‍टी सीएम ने कहा है कि योग शारीरिक शिक्षा के सिलेबस में शामिल होगा। शारीरिक शिक्षा यूपी के सभी सरकारी स्कूलों में अनिवार्य है। लिहाजा अब यूपी को बच्चों को योग का पाठ भी अनिवार्य तौर पर पढ़ना होगा।

‘नर्सरी से लागू होगी अंग्रेजी शिक्षा

डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा ने यह भी बताया कि राज्य के स्कूलों में अब अंग्रेजी पहली क्लास से ही पाठ्यक्रम का हिस्सा होगी। फिलहाल सरकारी स्कूलों में छठी क्लास के बाद अंग्रेजी पढ़ाई जाती है। एक अंग्रेजी अखबार को दिये इंटरव्यू में सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी कहा था कि शिक्षा व्यवस्था में संस्कृति और आधुनिकता का मेल होना चाहिए।

नकल पर कसेगी नकेल

इसके साथ यूपी सरकार ने स्कूली शिक्षा में पारदर्शी तरीके से टीचरों की भर्ती का भी वायदा किया है। शिक्षा मंत्री के मुताबिक परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए इम्तिहानों के दौरान सीसीटीवी कैमरों से मॉनिटरिंग होगी। इतना ही नहीं, स्कूलों में 220 दिन तक पढ़ाई जरूरी की जाएगी।

You May Also Like

English News