योगी की योजनाओं की विफलता पर मचा बवाल

 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को प्रदेश की जनता का हाल जानने प्रतापगढ़ के मधुपुर गांव पहुंचे, जहाँ उन्होंने रात्रि चौपाल लगाकर लोगों से उनकी समस्याएं सुनी और उनके प्रश्नों के उत्तर दिए. यह रात्रि चौपाल मधुपुर गांव के स्कूल प्रांगण में लगाई गई थी, जहाँ हज़ारों की तादाद में ग्रामवासी मौजूद थे. लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को प्रदेश की जनता का हाल जानने प्रतापगढ़ के मधुपुर गांव पहुंचे, जहाँ उन्होंने रात्रि चौपाल लगाकर लोगों से उनकी समस्याएं सुनी और उनके प्रश्नों के उत्तर दिए. यह रात्रि चौपाल मधुपुर गांव के स्कूल प्रांगण में लगाई गई थी, जहाँ हज़ारों की तादाद में ग्रामवासी मौजूद थे.   मुख्यमंत्री ने राज्य और केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही सारी योजनाओं की हक़ीक़त जानने के लिए ग्रामवासियों से योजनाओं के बारे में पूछताछ की. उनका पहला सवाल शौचालय को लेकर था, उन्होंने पूछा कि गाँव में कितने लोगों को शौचालय योजन का लाभ मिला है. गाँव के ज्यादातर लोगों ने शौचालय न मिलने की शिकायत की, जिसके बाद सीएम ने तत्काल अधिकारीयों को फटकार लगाई और  24 घंटे के अंदर गांव के सभी लोगों को शौचालय के पैसे यानी 12 हजार रुपये उनके अकाउंट में ट्रांसफर किए जाने का आदेश दिया.  इसके अलावा प्रधानमंत्री आवास योजना पर भी सीएम ने सवाल पूछे, इस योजना में भी शौचालय की ही तरह घपला सामने आया, फिर राशन कार्ड, पेंशन योजना और अन्य योजनाओं के बारे में भी सीएम को वही जवाब आया कि "नहीं मिला है". इस पर आगबबूला हुए सीएम ने मंच से ही अफसरों को लताड़ा और योजनाएं पूर्ण कर रिपोर्ट भेजने के लिए कहा.

मुख्यमंत्री ने राज्य और केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही सारी योजनाओं की हक़ीक़त जानने के लिए ग्रामवासियों से योजनाओं के बारे में पूछताछ की. उनका पहला सवाल शौचालय को लेकर था, उन्होंने पूछा कि गाँव में कितने लोगों को शौचालय योजन का लाभ मिला है. गाँव के ज्यादातर लोगों ने शौचालय न मिलने की शिकायत की, जिसके बाद सीएम ने तत्काल अधिकारीयों को फटकार लगाई और  24 घंटे के अंदर गांव के सभी लोगों को शौचालय के पैसे यानी 12 हजार रुपये उनके अकाउंट में ट्रांसफर किए जाने का आदेश दिया.

इसके अलावा प्रधानमंत्री आवास योजना पर भी सीएम ने सवाल पूछे, इस योजना में भी शौचालय की ही तरह घपला सामने आया, फिर राशन कार्ड, पेंशन योजना और अन्य योजनाओं के बारे में भी सीएम को वही जवाब आया कि “नहीं मिला है”. इस पर आगबबूला हुए सीएम ने मंच से ही अफसरों को लताड़ा और योजनाएं पूर्ण कर रिपोर्ट भेजने के लिए कहा. 

You May Also Like

English News