योगी के फैसलों से डरे पीएम मोदी, नजर रखने के लिए यूपी भेजे अपने 9 करीबी अफसर

उत्तर प्रदेश में जब से योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री का पद संभाला है तब से वो चर्चा में बने हुए हैं। योगी लगातार बड़े-बड़े फैसले ले रहे हैं। खबरों के मुताबिक नरेंद्र मोदी सरकार सीएम योगी के कामों पर नजर रखने के लिए अपने अफसरों को भेज रही है। केंद्र सरकार योगी के सचिवालय में नौ वरिष्ठ भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अफसरों को भेजने की योजना बना रही है। माना जा रहा है केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ऐसा उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की कड़ी निगरानी बनाए रखने के लिए कर रही है। सूत्रों ने कहा कि इन नौ अफसरों का चुनाव प्रधानमंत्री ऑफिस की ओर से किया गया है। उत्तर प्रदेश भेजे जा रहे सभी नौ अफसरों का औपचारिक प्रस्ताव कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (Department of Personnel & Training) ने 12 अप्रैल को कैबिनेट सचिवालय को भेज दिया था, लेकिन अभी तक शॉर्टलिस्ट किए गए अफसरों की सहमति ना मिलने के कारण इसमें देरी हो रही है।

सूत्रों ने बताया कि नौ में से दो अफसरों में निजी कारणों के चलते राज्य में वापसी करने से मना कर दिया है। शॉर्टलिस्ट किए गए सभी अफसर उत्तर प्रदेश कैडर के हैं। केंद्र में यह मुख्यतौर पर संयुक्त सचिव रैंक पर हैं, इसका सीधा मतलब है कि यूपी में उन्हें अलग-अलग विभाग का सचिव या प्रमुख सचिव बनाया जा सकता है। वर्तमान में इन्हें कैबिनेट सचिवालय, वाणिज्य मंत्रालय, मानव संसाधन विकास, खाद्य, कपड़ा, स्वास्थ्य और आयुष विभाग मिले हुए हैं। इसके अलावा एक अफसर UIDAI और एक अन्य MMTC Ltd में है।

You May Also Like

English News