योगी के मंत्री का VIDEO वायरल, प्रधान पति को दी गाली-समर्थकों ने की पिटाई

उत्तर प्रदेश सरकार के पशुधन व मत्स्य राज्य मंत्री के सामने ही उनके समर्थकों ने एक प्रधान पति की पिटाई कर दी. शनिवार को इसका वीडियो वायरल होने के बाद हड़कम्प मच गया है.योगी के मंत्री का VIDEO वायरल, प्रधान पति को दी गाली-समर्थकों ने की पिटाईबड़ी खबर: कार में एयरबैग्स, स्पीड अलर्ट सिस्टम लगाना अगले साल से हो जाएगा अनिवार्य

प्रधान पति ने इस मामले में न्याय के लिए पुलिस से गुहार लगाई और मंत्री जय प्रकाश निषाद के खिलाफ तहरीर थाने में दर्ज की है.

वायरल हुआ वीडियो करीब ढाई मिनट का है, जिसमें एक शख्स मंत्री से बहस करता दिख रहा है और बहस गर्माते ही पीछे से आकर मंत्री समर्थक उसे धक्का देते हुए बाहर कर देता हैं और उसके साथ गाली गलौज भी करते हैं.

दरअसल, यह पूरा मामला कोटेदार के चयन का है. गौरी बाजार ब्लाॅक के अवधपुर गांव में परशुराम विश्वकर्मा की कोटे की दुकान थी. करीब पांच महीने पूर्व कोटे की दुकान निरस्त हो गई. कोटेदार के चयन के लिए 28 अक्तूबर को बैठक होनी थी.

गांव की ग्रामप्रधान अनीता देवी के पति मुन्नालाल निषाद के अनुसार इस बैठक की सूचना भी गांव में प्रसारित कर दी गई थी. प्रधान पति के अनुसार शनिवार की सुबह करीब सात बजे ग्राम पंचायत सचिव अभय सिंह का फोन उनके पास आया और उन्होंने कहा कि मंत्री जी (पशुधन व मत्स्य राज्य मंत्री जयप्रकाश निषाद) ने कहा है कि कोटेदार के चयन की बैठक आज नहीं होगी. 

प्रधान पति के अनुसार उस समय दरवाजे पर गांव पर कई लोग थे. उन लोगों के साथ मैं राज्य मंत्री जयप्रकाश निषाद के से मिलने उनके पास गया. प्रधान पति ने आरोप लगाया कि मैं अपनी बात कह रहा था, उसी बीच राज्य मंत्री मुझे गाली देने लगे. इसी दौरान उनके साथ के देवेन्द्र सिंह व अन्य समर्थकों ने मेरी पिटाई शुरू कर दी.

मामले में पुलिस श‍िकायत की जा चुकी है. पूरे मामले पर मंत्री ने अपनी सफाई दी है और कहा है कि यह मामला मारपीट का नहीं है. जय प्रकाश निषाद ने कहा है कि कुछ लोग प्लान करके उनके पास झगड़ने आए थे और उन्हीं लोगों ने वीडियो बनाकर इसे वायरल किया.

बहरहाल, पिछले 24 घंटे में दो मंत्रियों की वजह से योगी सरकार की फजीहत हुई है. पहले मंत्री ओमप्रकाश के रातभर के काफिले से एक बच्चे की मौत के बाद मुख्यमंत्री को खुद हस्तक्षेप करना पड़ा तो दूसरी तरफ जयप्रकाश निषाद के साथ हुई मारपीट और गाली गलौज की वजह से भी सरकार की किरकिरी का सामना करना पड़ रहा है.

You May Also Like

English News