अभी-अभी: योगी को खून-खराबे की मिली ये बड़ी धमकी यूपी में चारो तरफ मचा हडकंप…

इन दिनों उत्तर प्रदेश में सहारनपुर पुलिस की नींद हराम हो रखी है. इसकी वजह है भीम आर्मी. दलितों की रक्षा के नाम पर गठित इस भीम आर्मी के सेनाध्यक्ष एवं संस्थापक चंद्रशेखर नाम का एक व्यक्ति बताया जाता है. जिसने धमकी दी है कि आर्मी को टारगेट किया गया तो पुलिस-प्रशासन खूनखराबे के लिए तैयार रहे.अभी-अभी: योगी को खून-खराबे की मिली ये बड़ी धमकी यूपी में चारो तरफ मचा हडकंप...यह भी पढ़े:> अभी-अभी: लगातार हुए 900 धमाके, इस धमाके से दहल उठा पूरा देश…

फेसबुक पर एक आपत्तिजनक वीडियो पोस्ट के जरिए भीम आर्मी से जुड़े लोगों को जेल भेजने व उत्पीडन बंद करने की चेतावनी दी गई है.उधर खुफिया सूत्रों का दावा है कि बड़ी संख्या में हथियार जुटाकर भीम आर्मी पुलिस से सीधे मुकाबले की तैयारी में है. इसके लिए दलित बहुल इलाकों में हथियार बंटवाने की बात भी सामने आ रही है.

इसके लिए अलर्ट जारी कर जिले के सभी थानेदारों को दलित बहुल इलाकों पर पैनी निगाह रखने को कहा गया है. गौरतलब है कि यंगिस्थान ने इसको लेकर पहले ही खबर प्रकाशित की थी कि गुजरात की तर्ज पर, जिस प्रकार वहां नरेंद्र मोदी को बदनाम किया गया था उसी प्रकार उत्तर प्रदेश में योगी को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है.

गौरतलब है कि पांच मई को शब्बीरपुर में राजपूतों व दलितों में संघर्ष के बाद नौ मई को भीम आर्मी के बैनर तले ऐसा तांडव हुआ कि पूरा सिस्टम सिहर उठा था. पुलिस अभी जिले के हालात संभाल भी नहीं पाई थी कि भीम आर्मी के चंद्रशेखर ने एक बार फिर फेसबुक पर वीडियो वायरल कर पुलिस-प्रशासन को ईंट से ईंट बजाने की धमकी दी है.

सहारनपुर में जिस प्रकार खून खराबे के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया जा रहा है उसको देखते हुए जिले के पुलिस कप्तान सुभाष चंद्र दुबे ने साइबर सेल से सोशल मीडिया पर नजर रखने को कहा है. ताकि भड़काऊ पोस्ट करने वालों को पकड़ कर उनके खिलाफ कार्रवाई कर माहौल को बिगड़ने से बचाया जा सके.

वहीं, खुफिया सूत्रों के मुताबिक चंद्रशेखर की अगुवाई में दलित आरपार की लड़ाई के लिए तैयार हैं. इनके पास भारी संख्या में असलाह पहुंचा दिया गया है. खुफिया सूत्र दावा कर रहे हैं कि भीम आर्मी ने शामली से अवैध हथियारों की खेप मंगवा कर दलितों के बीच बंटवा दी है.

साथ ही चंद्रशेखर का संदेश भी दिया है कि किसी भी तरह से डरने की जरूरत नहीं है. अब वक्त आ चुका है, जब पुलिस-प्रशासन से सीधे लड़ाई लडनी पड़ेगी, क्योंकि वो चुन-चुन कर दलितों को जेल भेज रहा है.

दूसरी ओर भीम आर्मी के नक्सली कनेक्शन को लेकर एसएसपी द्वारा दिए गए बयान के बाद से भी भीम आर्मी से जुडे़ लोग खफा बताए जा रहे हैं. उन्होंने बैठक कर चुनौती दी है कि एसएसपी द्वारा भीम आर्मी के जिन खातों में लाखों नकद होना बताकर इन्हें सीज करने की बात की जा रही है, उनकी डिटेल उन्हें मीडिया में सार्वजनिक कर देनी चाहिए.

वहीं भीम आर्मी से जुड़े लोग गुप्त स्थानों पर बैठक कर रणनीति बना रहे हैं. साथ ही वे पुलिस-प्रशासन को चुनौती दे रहे हैं कि दम है तो पुलिस चंद्रशेखर को पकड़ कर दिखाएं. नक्सलियों से कनेक्शन भी साबित करें.

You May Also Like

English News