योगी राज, ने रातो रातो लिए ये बड़े फैसले नहीं होगा अब ये, यूपी में चारों तरफ मचा हाहाकार…

लखनऊ। यूपी में नई योगी सरकार बनते ही पूरी तेज रफ्तार पर नजर आ रही  हैं। आये दिन नए फैसले चौकाने वाले हैं। गुरुवार रात को भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला जहां शास्त्री भवन में करीब एक बजे तक मीटिंग चली जिसमे सीएम योगी आदित्यनाथ सहित तमाम बड़े अधिकारी और मंत्री मौजूद रहे। इस मीटिंग में कई अहम फैसले लिए गए।योगी राज, ने रातो रातो लिए ये बड़े फैसले नहीं होगा अब ये, उत्तर-प्रदेश में मचा हाहाकार...यह भी पढ़े:> अभी अभी: पंखे से लटका मिला सबसे बड़े भारतीय क्रिकेटर का शव, खेल संग पूरे देश में मचा हड़कंप

योगी आदित्यनाथ और अधिकारियों की बैठक में हुई बड़ी बातें

गुरुवार देर रात तक राज्य में संचालित उद्योगों से जुड़े छह विभागों की समीक्षा बैठक की। इस दौरान सीएम के समाने छह विभागों के प्रमुख सचिव और सचिव ने अपना प्रजेंटेशन पेश किया। इस दौरान विभागों से सम्बंधित सभी जानकारियां ली। साथ ही अपने दिशा निर्देश भी दिए। इस दौरान औद्योगिक विकास विभाग, यमुना एक्सप्रेसवे, नोएडा और ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग, खाड़ी एवं ग्रामोद्योग विभाग, ऊर्जा एवं वैकल्पिक ऊर्जा विभागों के प्रेजेंटेशन हुए। सीएम किस तरह बारीकी से एक-एक विभाग का प्रेजेंटेशन देख रहे हैं, इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कड़ी ग्रामोद्योग विभाग के अधिकारी रात 12 बजे सीएम के कक्ष से बाहर निकले।

अपनी पहली कैबिनेट बैठक में किसानों को बड़ी राहत दें एके बाद योगी सरकार बिजली को लेकर पूरे एक्शन में है। कर रात हुयी बैठक में फैसला लिया गया कि यूपी के गांवों में अब शाम छह बजे से सवेरे छह बजे तक बिना कटौती के बिजली मिलेगी। 14 अप्रैल से ज़िला हेडकवाटर में 24 घंटे, तहसीलों और गांव में 18 -18 घंटे बिजली सप्लाई के आदेश दिए गए हैं।

यह भी पढ़े:> अभी-अभी: इस सबसे बड़े भारतीय क्रिकेटर ने अपनी पत्नी की गोली मारकर की हत्या, मिली फांसी की सजा…

100 दिनों में पांच लाख नए कनेक्शन का आदेश रात डेढ़ बजे तक चली मीटिंग के बाद योगी आदित्यनाथ ने अगले 100 दिनों में पांच लाख नए कनेक्शन करने के आदेश दिए। बिजली चोरी रोकने के लिए योगी सरकार ने अफ़सरों को एक प्रोजेक्ट बनाने को कहा है। मुख्यमन्त्री के आफिस में बिजली को लेकर रात एक बजे तक बैठक चली है।

You May Also Like

English News