योगी से रिश्तों पर बोले केशव: गुरु तो नहीं कहूंगा लेकिन…..

उत्तर प्रदेश की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट के उपचुनाव के लिए मतदान जारी है. गोरखपुर सीट पर सीएम योगी की प्रतिष्ठा दांव पर है, तो वहीं फूलपुर सीट पर बीजेपी उम्मीदवार को जिताने का जिम्मा डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पर है. मौर्य 2014 के समीकरण को लेकर उपचुनाव में जीत का दावा कर रहे हैं और सपा-बसपा के गठबंधन को स्वार्थ का बंधन बता रहे हैं.

मतदान करने से पहले केशव मौर्य से आजतक के संवाददाता ने बातचीत की. केशव मौर्य ने कहा कि फूलपुर लोकसभा सीट पर 2014 के लोकसभा चुनाव में 100 में से 53 वोट बीजेपी को मिले थे और 47 वोट सपा, बसपा सहित सारे विपक्षी दलों के मिले थे. उसी तर्ज पर उपचुनाव में भी होगा और नतीजा बीजेपी के पक्ष में होगा.

उन्होंने कहा कि मोदी के विजय रथ को रोकने के लिए जो सपा-बसपा ने गठबंधन किया है. उपचुनाव में ही इसकी हवा निकल जाएगी. फूलपुर और गोरखपुर दोनों लोकसभा सीट पर बीजेपी उम्मीदवार भारी मतों से जीत दर्ज करेंगे.

केशव ने कहा कि मोदी लहर अभी भी कायम है और 2019 में भी रहेगी. इसी डर से पूरा विपक्ष एकजुट हो रहा है, लेकिन कोई फायदा मिलने वाला नहीं है. देश में मोदी के विकास को जनता स्वीकार रही है.केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि उनके और सीएम योगी आदित्यनाथ के बीच किस तरह का मनमुटाव नहीं है. एक सीएम और डिप्टी सीएम के बीच जैसा संबंध होना चाहिए हमारे बीच वैसा ही है. केशव ने कहा योगी को गुरु तो नहीं कहूंगा लेकिन योगी के गुरु अवैद्यनाथ और हमारे गुरु अशोक सिंघल के बीच बहुत अच्छे रिश्ते रहे हैं. हम दोनों लोग अलग गुरू के शिष्य हैं, जिनकी विचारधारा एक है.

You May Also Like

English News