रथयात्रा से पहले पूर्वतट रेलवे ने जगन्नाथ भक्तों को दिया तोहफा, सप्ताह में छह दिन चलेगी मेमू ट्रेन

रेल में बढ़ती भीड़ से निपटने के लिए पूर्वतट रेलवे ने राज्य में पहली बार मेमू ट्रेन सेवा का शुभारंभ शुक्रवार को खुर्दा रेलवे स्टेशन से किया। इस अवसर पर खुर्दा रोड के मंडल रेल प्रबंधक बृजमोहन अग्रवाल एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। यह मेमू ट्रेन सप्ताह में 6 दिन, सोमवार से शनिवार बरहमपुर एवं कटक के बीच चलेगी।रेल में बढ़ती भीड़ से निपटने के लिए पूर्वतट रेलवे ने राज्य में पहली बार मेमू ट्रेन सेवा का शुभारंभ शुक्रवार को खुर्दा रेलवे स्टेशन से किया। इस अवसर पर खुर्दा रोड के मंडल रेल प्रबंधक बृजमोहन अग्रवाल एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। यह मेमू ट्रेन सप्ताह में 6 दिन, सोमवार से शनिवार बरहमपुर एवं कटक के बीच चलेगी।  सुबह 7:30 बजे बरहमपुर से खुलकर यह यात्री ट्रेन 11:30 बजे कटक रेलवे स्टेशन पर पहुंचेगी। शनिवार को बरहमपुर से खुर्दा एवं रविवार को खुर्दा एवं बरहमपुर के बीच मेमू स्पेशल ट्रेन चलायी जाएगी। इस नई मेमू ट्रेन में 12 कोच हैं। इस ट्रेन के कोच में यात्रियों के बैठने वाली सीट को आरामदायक बनाया गया है। दो सीटों की बीच की दूरी भी अन्य पैसेंजर ट्रेन की तुलना में अधिक है। इसके अलावा बेहतरीन शौचालय व्यवस्था भी इस ट्रेन में उपलब्ध की गई है। इस ट्रेन की गति तेज होने के साथ इसका निर्माण कपूरथला रेलकोच फैक्ट्री में नए तरीके से किया गया है।  हाईकोर्ट, एससीबी मेडिकल के साथ राजधानी के विभिन्न शिक्षानुष्ठान, सचिवालय आदि संस्थान से जुड़े कर्मचारी एवं अन्य यात्री के लिए यह विशेष ट्रेन सहायक होगी। क्या है मेमू ट्रेन मेन लाइन इंजन मल्टीपल यूनिट यानी मेमू ट्रेन में दोनों तरफ इंजन लगा हुआ है। ऐसे में इंजन बदलने की कोई आवश्यकता न होने से इस ट्रेन की गति भी तेज रहेगी। उल्लेखनीय है कि रथयात्रा से पहले मेमू ट्रेन चलाने के लिए विगत अप्रैल में पूर्वतट रेलवे के महाप्रबंधक उमेश ¨सह ने जानकारी दी थी। रथयात्रा से पहले बरहमपुर से खुर्दा के बीच पूर्वतट रेलवे ने मेमू ट्रेन सेवा उपलब्ध कराकर जगन्नाथ भक्तों को रथयात्रा का तोहफा दिया है।

सुबह 7:30 बजे बरहमपुर से खुलकर यह यात्री ट्रेन 11:30 बजे कटक रेलवे स्टेशन पर पहुंचेगी। शनिवार को बरहमपुर से खुर्दा एवं रविवार को खुर्दा एवं बरहमपुर के बीच मेमू स्पेशल ट्रेन चलायी जाएगी। इस नई मेमू ट्रेन में 12 कोच हैं। इस ट्रेन के कोच में यात्रियों के बैठने वाली सीट को आरामदायक बनाया गया है। दो सीटों की बीच की दूरी भी अन्य पैसेंजर ट्रेन की तुलना में अधिक है। इसके अलावा बेहतरीन शौचालय व्यवस्था भी इस ट्रेन में उपलब्ध की गई है। इस ट्रेन की गति तेज होने के साथ इसका निर्माण कपूरथला रेलकोच फैक्ट्री में नए तरीके से किया गया है।

हाईकोर्ट, एससीबी मेडिकल के साथ राजधानी के विभिन्न शिक्षानुष्ठान, सचिवालय आदि संस्थान से जुड़े कर्मचारी एवं अन्य यात्री के लिए यह विशेष ट्रेन सहायक होगी। क्या है मेमू ट्रेन मेन लाइन इंजन मल्टीपल यूनिट यानी मेमू ट्रेन में दोनों तरफ इंजन लगा हुआ है। ऐसे में इंजन बदलने की कोई आवश्यकता न होने से इस ट्रेन की गति भी तेज रहेगी। उल्लेखनीय है कि रथयात्रा से पहले मेमू ट्रेन चलाने के लिए विगत अप्रैल में पूर्वतट रेलवे के महाप्रबंधक उमेश ¨सह ने जानकारी दी थी। रथयात्रा से पहले बरहमपुर से खुर्दा के बीच पूर्वतट रेलवे ने मेमू ट्रेन सेवा उपलब्ध कराकर जगन्नाथ भक्तों को रथयात्रा का तोहफा दिया है।

You May Also Like

English News