रविंद्र जडेजा वो कर डाला…जो सचिन तेंदुलकर भी नहीं कर पाए..विराट कोहली भी हैरान !

कहने को तो रविंद्र जडेजा इस वक्त टीम इंडिया के ऑलराउंडर हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस वक्त वो दुनिया के सबसे धाकड़ गेंदबाजों की लिस्ट में टॉप में मौजूद हैं। इसके साथ ही जडेजा के नाम एक और बड़ी उपलब्धि जुड़ गई है। अब इस गेंदबाज ने कपिल देव और मिशेल जॉनसन जैसे खिलाड़ियों की लिस्ट में अपनी जगह बना ली है। जडेजा ऐसे तीसरे ऑलराउंडर बन गए हैं, जिन्होंने किसी एक सीजन में 500 से ज्यादा रन बनाए हैं और 50 से ज्यादा विकेट लिए हैं। जाहिर है कि जडेजा लगातार वर्ल्ड क्रिकेट में बाकी सूरमाओं के लिए बड़ी चुनौती पेश कर रहे हैं। भारत के महान क्रिकेटर कपिल देव ने ये कारनामा 1979-80 के दौरान किया था। आखिरकार जडेजा ने अब कपिल के रिकॉर्ड की बराबरी कर दी है।इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन ने 2009-09 के सेशन में इस बात को अंजाम दिया था। धर्मशाला में हुए मैच में जडेजा ने पहली पारी में 63 रनों की पारी खेली। जिस वक्त जडेजा 9 रनों के निजी स्कोर पर पहुंचे तो उन्होंने इस सीजन में अपने 500 रन पूरे कर दिए। हाल ही में आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में भी जडेजा ने धमाल मचाया हुआ है। जडेजा आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में इस वक्त पहले नंबर के टेस्ट गेंदबाज हैं। मैदान पर उनकी गेंदबाजी की कला से हर कोई प्रभावित होता है। धर्मशाला में हुए टेस्ट मैच में भी जडेजा कंगारुओं के लिए बड़ी मुसीबत बने। इसके अलावा पूरी सीरीज में भी उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों की नाम में दम कर दिया। हर बल्लेबाज के लिए वो इस वक्त कड़ी चुनौती पेश कर रहे हैं।

हालांकि धर्मशाला में पहली पारी में जडेजा एक विकेट ही हासिल कर पाए लेकिन कंगारुओं के बढ़ते रनों को रोकने में वो कामयाब हो पाए। ये ही वो वजह थी कि बाकी गेंदबाज ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों पर हावी होते रहे। एक तरफ से जडेजा लगातार प्रेशर बना रहे थे और दूसरी तरफ से बाकी गेंदबाज कंगारुओं का काम तमाम कर रहे थे। पहली पारी में उन्होंने रिद्धिमान साहा के साथ मिलकर 7वें विकेट के लिए 96 रनों की पार्टनरशिप की। आपको बता दें कि ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी महज 300 रनों पर ही सिमट गई थी। पहली पारी में भारत की तरफ से पहला टेस्ट मैच खेल रहे कुलदीप यादव ने 4 विकेट अपने नाम किए। दूसरी पारी में भी जडेजा कंगारुओं का अच्छा खासा दवाब बनाने में कामयाब रहे।

व्आपको बता दें कि जडेजा 29 टेस्ट मैचों में 138 विकेट अपने नाम कर चुके हैं। उनकी बेस्ट परफॉर्मेंस 48 रन देकर 7 विकेट रही है। इसके अलावा वो टेस्ट मैचों में 6 अर्धशतकों के साथ 988 रन भी बना चुके हैं। रविंद्र जडेजा के इस खेल को देखकर लग रहा है कि आने वाले वक्त में वो दुनिया के सबसे शानदार गेंदबाज साबित हो सकते हैं। टीम इंडिया ने पहली पारी में 332 रनों का स्कोर खड़ा किया। इस तरह से पहली इनिंग में भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया पर 32 रनों की बढ़त बना दी। जडेजा ने इस सीजन में अब तक 13 टेस्ट मैच खेले हैं और 42.76 के एवरेज से 556 रन बनाए हैं। इसके अलावा गेंदबाजी में जडेजा ने इस सीजन में 68 विकेट अपने नाम किए हैं। कपिल देव ने 1979-80 के दौरान 13 मैचों में 535 रन बनाए थे और 63 विकेट लिए थे।

You May Also Like

English News