राजनीति में तूफान की तैयारी, बाहर आया ‘ब्लू स्टार’ और भिंडरावाले का जिन्न

पंजाब में एक बार फिर से ऑपरेशन ब्लू स्टार और भिंडरावाले का जिन्न बोतल से बाहर निकल आया है. इस बार ऑपरेशन ब्लू स्टार और भिंडरावाले के नाम पर राजनीति तब हो रही है जब सिखों की सर्वोच्च संस्था शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी अमृतसर के हरमिंदर साहिब में ऑपरेशन ब्लू स्टार की याद में बनाए जा रहे एक म्यूजियम में उन तमाम लोगों की तस्वीरें लगा रही है जोकि इस ऑपरेशन के दौरान मारे गए थे. लेकिन, सबसे ज्यादा विवाद ऑपरेशन ब्लू स्टार के दौरान मारे गए जरनैल सिंह भिंडरावाले की तस्वीर को लेकर हो रहा है.राजनीति में तूफान की तैयारी, बाहर आया 'ब्लू स्टार' और भिंडरावाले का जिन्नबड़ी खबर: चीन की हवा टाइट, ‘अब विवादों के शांतिपूर्ण तरीके से निकलेंगे हल- चीनी राष्ट्रपति’

दरअसल, एसजीपीसी ने ये तय किया है कि ब्लू स्टार ऑपरेशन की याद में बनाए जा रहे म्यूजियम में भिंडरावाले की तस्वीर लगाई जाएगी और ये बात पंजाब की कांग्रेस सरकार को नागवार गुजर रही है. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि एसजीपीसी का इस तरह से ऑपरेशन ब्लू स्टार में मारे गए आतंकी भिंडरावाले की तस्वीर को हरमंदिर साहिब के परिसर में बनने वाले म्यूजियम में जगह देना जायज नहीं है. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एसजीपीसी को अकाली दल के हाथों की कठपुतली बताते हुए कहा कि जब भी अकाली दल सत्ता से बाहर होता है तो वो रेडिकल ग्रुप्स के साथ मिलकर पंजाब का माहौल बिगाड़ने के लिए इस तरह की हरकतें करता रहता है.

इससे पंजाब की अमन शांति भंग होगी: कैप्टन अमरिंदर सिंह, मुख्यमंत्री, पंजाब

जब अकाली दल सत्ता में था तब उन्होंने पिछले 10 साल में ऐसा कुछ भी करने की कोशिश नहीं की और ना ही एसजीपीसी की तरफ से ऐसा कुछ किया गया. लेकिन, अब जैसे ही ये लोग सत्ता से बाहर हुए हैं ये अपने इशारे पर एसजीपीसी से ये सब कुछ करवा रहे हैं. मैं प्रकाश सिंह बादल से पूछना चाहूंगा कि आखिरकार ऐसा सब करने की जरूरत क्या है. ऐसा सब करने से पंजाब की अमन शांति भंग होगी. इसके अलावा और कुछ हासिल नहीं होने वाला.

जाकिर मूसा को कश्मीर के नए पोस्टर ब्वॉय बनने की चाह, क्या है जाकिर मूसा का एक्शन प्लान?

अकाली दल ने इस पूरे मामले में घुमा-फिरा कर जवाब देते हुए कहा कि एसजीपीसी सिखों की सर्वोच्च संस्था है और उसके कामकाज में किसी का भी दखल नहीं है. भिंडरावाले की तस्वीर वहां पर क्यूं लगाई जा रही है इसका जवाब भी एसजीपीसी की तरफ से ही दिया जा सकता है. अकाली दल के प्रवक्ता जंगवीर सिंह ने कहा कि पंजाब में ब्लू स्टार ऑपरेशन के नाम पर आतंकवाद लाने की जिम्मेदार कांग्रेस है. अब यही कांग्रेस अकाली दल पर रेडिकल ग्रुपों के साथ मिले होने का आरोप लगा रही है.

आम आदमी पार्टी को भी हरमंदिर साहिब में ब्लू स्टार ऑपरेशन के दौरान मारे गए लोगों की यादगार में बनाएं जा रहे म्यूजियम और ऑपरेशन में मारे गए लोगों की तस्वीरें लगाने में कुछ भी गलत नजर नहीं आ रहा है. आम आदमी पार्टी के पंजाब के सीनियर लीडर सुखपाल खैहरा ने कहा कि अगर ब्लू स्टार ऑपरेशन की याद में मारे गए लोगों के लिए कोई यादगार म्यूजियम हरमंदिर साहिब में मनाया जा रहा है तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है. हालांकि भिंडरावाले की तस्वीर इस म्यूजियम में लगाए जाने को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने गोलमोल जवाब दिया. उन्होंने कहा, “ब्लू स्टार ऑपरेशन के दौरान सिखों के साथ ज्यादती की गई थी और अगर इस ऑपरेशन की याद में कोई म्यूजियम बनाया जा रहा है तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है. हालांकि यहां पर किसकी तस्वीर लगनी है ये तो एसजीपीसी ही बता सकता है.”

वहीं ब्लू स्टार ऑपरेशन और भिंडरावाले को लेकर जारी राजनीति के बीच पंजाब में अमेरिका और कनाडा से काम कर रही सिखों की एक संस्था सिख फॉर जस्टिस ने अलग खालिस्तान बनाने के लिए एक रेफरेंडम करवाने के लिए “रेफरेंडम 2020” के बड़े-बड़े पोस्टर पंजाब के कई इलाकों में लगवा दिए हैं. जिसके बाद पंजाब पुलिस ने कार्यवाही करते हुए इस मामले में इस संस्था से जुड़े एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. आरोप है कि सिख फॉर जस्टिस पंजाब में “रेफरेंडम 2020” के नाम पर पंजाब का माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर रहा है. पंजाब पुलिस ने साफ कर दिया कि इस तरह से अलग खालिस्तान बनाने की मांग करने वालों और पंजाब का माहौल बिगाड़ने की कोशिश करने वाले लोगों से सख्ती से निपटा जाएगा.

ब्लू स्टार ऑपरेशन और भिंडरावाले के नाम का इस्तेमाल अक्सर राजनीतिक पार्टियां अपनी सुविधा और फायदे के हिसाब से करती रही हैं. अब एक बार फिर हरमंदिर साहिब में भिंडरावाले के पोस्टर लगाने को लेकर शुरू हुए विवाद पर भी जमकर राजनीति हो रही है. लेकिन, इस राजनीति के बीच किसी को भी पंजाब की अमन-शांति की परवाह नहीं है.

You May Also Like

English News