राज्यपाल ने दिए अमरनाथ यात्रा के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजामों के निर्देश

रियासत में आगामी 29 जून से शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा 2017 की सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के चेयरमैन एवं राज्यपाल एनएन वोहरा ने सुरक्षा एजेंसियों को निरंतर निगरानी के साथ प्रभावी समन्वय बनाने पर जोर दिया है।

ये भी पढ़े: अभी-अभी: मोदी का सफाया करने के लिए किंगमेकर ने खाई कसम, पुरे देश में मचा हडकंप…

पुलिस महानिरीक्षक कश्मीर और कश्मीर का संभागीय प्रशासन वैध यात्रा पर्ची वाले यात्रियों को निर्धारित तिथि और ट्रैक से यात्रा की अनुमति देना सुनिश्चित बनाएंगे। राज्यपाल ने सोमवार को राजभवन श्रीनगर में एक उच्च स्तरीय बैठक कर अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की। 

कश्मीर में लगातार खराब हालात और आतंकी हमलों की आशंका को देखते हुए अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा को गंभीरता से लिया जा रहा है। राज्यपाल ने मंडलायुक्त कश्मीर और आईजीपी कश्मीर को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि सभी सेवा प्रदाता यात्रा क्षेत्र में सुरक्षित और सुरक्षित वातावरण में में कार्य करने के लिए सक्षम हों। श्राइन बोर्ड ने यात्रा क्षेत्र में आकस्मिक मृत्यु होने पर पहले ही सभी सेवा प्रदाता को एक लाख और टट्ू का 30000 रुपये प्रत्येक का बीमा किया है। 

आपदा प्रबंधन ढ़ांचे से जुड़े इंतजाम को भी करने के निर्देश

गवर्नर एनएन वोहराPC: File Photo

राज्यपाल ने मुख्य सचिव को आपदा प्रबंधन एजेंसियों को संवेदनशील बनाने और यात्रा के लिए सभी आपदा प्रबंधन से संबंधित व्यवस्था राज्य के समग्र आपदा प्रबंधन ढांचा सुनिश्चित बनाने पर जोर दिया।

कचरा निष्पादन की व्यवस्था करने को कहा। उन्होंने मुख्य सचिव, जीओसी मुख्यालय 15 कोर और अन्य सुरक्षा एजेंसियों को यात्रा क्षेत्र में निर्दिष्ट स्थानों पर अपने आपदा संबंधित संसाधनों को स्थापित करने के निर्देश दिए। सभी कैंपों में दैनिक संग्रह और कचरे के निपटान तथा स्वच्छता के रखरखाव के लिए उचित व्यवस्था की जाएगी।

बैठक में मुख्य सचिव बीबी व्यास, पुलिस महानिरीक्षक डा. एसपी वैद, जीसीओ मुख्यालय 15 कोर ले. जनरल जेएस संधू, जीओसी मुख्यालय विक्टर फोर्स मेजर जनरल बीएस राजू, सीईओ उमंग नरुला, प्रमुख सचिव गृह आरके गोयल आदि उच्चाधिकारी मौजूद रहे।

You May Also Like

English News