देहज के लिया रातभर ससुराल के गेट पर बैठी रही बहू

अवंतिका कालोनी में एक विवाहिता शुक्रवार रात से लेकर शनिवार शाम तक ससुराल के बाहर गेट पर धरने पर बैठी रही। उसका आरोप है कि दहेज की मांग पूरी न होने पर ससुराल वालों ने उसे घर से निकाल दिया है।
 दहज के लिया रातभर ससुराल के गेट पर बैठी रही बहू

उनके पिता अनिल त्यागी ने बताया कि 15 फरवरी 2016 को उन्होंने नेहा की शादी अवंतिका कालोनी में रहने वाले एक युवक से की थी। उन्होंने शादी में करीब 40 लाख रुपये का खर्च किया था।

अजमेर-सियालदाह एक्सप्रेस के 14 डिब्बे पटरी से उतरे, दो की मौत, 70 घायल

20 लाख रुपये दहेज की मां 

आरोप है कि शादी के एक माह बाद से ही पति और सास-ससुर उससे 20 लाख रुपये दहेज की मांग करते हुए तंग करने लगे। मांग पूरी न करने पर उसे घर में न रखने की धमकी दी गई।

नेहा ने बताया कि तीन महीने पहले उसके पति और सास ने उन्हें जबरन मायके भेज दिया था। इसके बाद से उन्हें लेने नहीं पहुंचे। कई दिनों तक पति के नहीं आने पर नेहा के परिजनों ने ससुराल पक्ष के लोगों से बात की।

समाज के लोगों ने भी कई बार गांव में पंचायत कर दोनों पक्षों के बीच फैसला कराने का प्रयास किया, लेकिन ससुराल के लोग नहीं माने। अनिल त्यागी का कहना है कि जब रातभर ससुराल के गेट पर बैठी रही बहू, ससुरालियों ने घर में रखने से किया मना ने नेहा को अपने साथ रखने से इंकार किया तो उन्होंने कविनगर पुलिस से मामले की शिकायत की थी।

युवती ने लव,सेक्स और धोखे के बाद सल्फास खाकर अपनी जान दे दी

पुलिस की मौजूदगी में ससुरालियों ने 5 जनवरी को नेहा को मायके से ले जाने की बात कही थी। बावजूद इसके वह तय समय पर नहीं पहुंचे। नेहा ने बताया कि शुक्रवार शाम वह सामान लेकर अवंतिका स्थित ससुराल पहुंच गई, जहां उसे घर का ताला बंद मिला और वह इसके बाद ससुराल में ही घर के बाहर धरने पर बैठ गईं।

पीड़िता कहना था कि जब तक उन्हें न्याय नहीं मिल जाता, तब तक वह ससुराल में घर के बाहर धरने पर बैठी रहेंगी। हालांकि शनिवार शाम मायके वाले उसे वापस लेकर चले गए। इस संबंध में कविनगर एसएचओ हेमंत राय का कहना है कि पुलिस तहरीर आने के बाद ही ससुराल पक्ष के खिलाफ कार्रवाई करेगी।

 
 

You May Also Like

English News