राम मंदिर निर्माण से अलग VHP ने तैयार किया ‘हिंदुत्व सम्मान एजेंडा’

विश्व हिन्दू परिषद की नई कार्यकारिणी काम शुरू करने से पहले रामलला के दरबार में नतमस्तक होगी। इसके लिए विहिप के नवनिर्वाचित कार्याध्यक्ष आलोक कुमार रविवार देर रात ही अयोध्या पहुंच गए। राम मंदिर निर्माण से अलग VHP ने तैयार किया 'हिंदुत्व सम्मान एजेंडा'

विशेष अभियान का आगाज

रामलला के दर्शन के बाद विहिप नेता राममंदिर निर्माण से अलग हिन्दुत्व सम्मान एजेंडा भी घोषित करेंगे। इस एजेंडे के पहले चरण में विहिप दलित और नारी सम्मान के लिए एक विशेष अभियान का आगाज करेगी। अनुसूचित जाति, जनजाति एक्ट में सुप्रीम कोर्ट के सुधार आदेश पर पूरे देश के दलित वर्ग में फैले रोष और देश भर में दुष्कर्म व छेड़छाड़ की घटनाओं से व्यथित विहिप नेताओं ने अपने एजेंडे में इन्हें प्राथमिकता देने का निर्णय लिया है। 

समाज में जनजागरण अभियान चलाएगी विहिप

अयोध्या जाने से पहले विहिप के कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि भगवान श्रीराम के वनवास के दौरान उनके सबसे प्रिय दलित समाज के केवट निषादराज सहित देवी अहिल्या और माता शबरी रहे। फिर भगवान राम के इस देश में दलित और महिलाओं के प्रति सम्मान में कैसे कमी आ सकती है। विहिप दलित और महिलाओं का सम्मान बरकरार रखने के लिए पूरे समाज में जनजागरण अभियान चलाएगी।

भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर जरूर बनेगा

आलोक कुमार ने राममंदिर निर्माण के मुद्दे पर कहा कि मंदिर निर्माण की सभी बाधाएं दूर हो रही हैं। अब अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर जरूर बनेगा। मंदिर कानून के दायरे में सबकी सहमति से बनेगा। अयोध्या जाने की बाबत उन्होंने कहा कि राम का काम शुरू करने से पहले उनके दरबार में जाकर विहिप की नई कार्यकारिणी भगवान का आदेश लेगी। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के खिलाफ विपक्षी दलों के महाभियोग नोटिस पर आलोक कुमार ने कहा कि वे ध्यान भटकाने वाले मामलों को गंभीरता से नहीं लेते। 

You May Also Like

English News