राम मंदिर : ‘शिव’ सेना को राम का सहारा, चलो अयोध्या का दिया नारा

भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना लगातार बीजेपी पर हमले बोल रही है. दोनों पार्टियों के बीच तकरार का दौर जारी है. अब एक बार फिर बीजेपी पर शिवसेना ने पोस्टर के तहत हमला बोल दिया है. जहां शिवसेना ने अपने एक पोस्टर में नारा दिया है चलो अयोध्या चलो वाराणसी. बता दे कि इससे पहले शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने घोषणा की थी वह रामलला के दर्शन के लिए अयोध्या जाएंगे. साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि वह पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस भी जाएंगे. और वह वहां जाकर गंगा आरती करेंगे साथ ही गंगा की कितनी सफाई हुई है यह भी देखेंगे. भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना लगातार बीजेपी पर हमले बोल रही है. दोनों पार्टियों के बीच तकरार का दौर जारी है. अब एक बार फिर बीजेपी पर शिवसेना ने पोस्टर के तहत हमला बोल दिया है. जहां शिवसेना ने अपने एक पोस्टर में नारा दिया है चलो अयोध्या चलो वाराणसी. बता दे कि इससे पहले शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने घोषणा की थी वह रामलला के दर्शन के लिए अयोध्या जाएंगे. साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि वह पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस भी जाएंगे. और वह वहां जाकर गंगा आरती करेंगे साथ ही गंगा की कितनी सफाई हुई है यह भी देखेंगे.   रामदेव और शिवसेना के बाद BJP भी हुई राहुल की मुरीद    आगामी 2019 आम चुनाव को देखते हुए शिवसेना प्रमुख का अयोध्या और बनारस दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. चलो अयोध्‍या, चलो वाराणसी के पोस्‍टर मायानगरी मुंबई में कई स्थानों पर लगाए गए है. प्राप्त मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये पोस्टर्स शिवसेना के सचिव मिलिंग नार्वेकर द्वारा लगाए गए है. ठाकरे का यह कदम आगामी चुनावों में हिन्दू मतदाताओं को काफी लुभा सकता है.   राहुल-मोदी के मिलन पर शिवसेना की चुटकी कहा- भाई तू तो छा गया...    उद्धव ठाकरे के इस कदम से बीजेपी में काफी ख़लबली मची हुई है. बता दे कि मोदी सरकार राम मंदिर निर्माण का वादा पूरा नहीं कर सकी है, जिससे कई हिन्दू संगठन और हिन्दू मतदाता बीजेपी और मोदी सरकार से नाखुश हैं. जिसका फायदा बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना उठा सकती है. बता दे कि शिवसेना एक के बाद एक मोदी सरकार पर हमले बोल रही है. कल ही संसद में शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने पीएम मोदी से इस्तीफे की मांग की थी.

आगामी 2019 आम चुनाव को देखते हुए शिवसेना प्रमुख का अयोध्या और बनारस दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. चलो अयोध्‍या, चलो वाराणसी के पोस्‍टर मायानगरी मुंबई में कई स्थानों पर लगाए गए है. प्राप्त मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये पोस्टर्स शिवसेना के सचिव मिलिंग नार्वेकर द्वारा लगाए गए है. ठाकरे का यह कदम आगामी चुनावों में हिन्दू मतदाताओं को काफी लुभा सकता है. 

उद्धव ठाकरे के इस कदम से बीजेपी में काफी ख़लबली मची हुई है. बता दे कि मोदी सरकार राम मंदिर निर्माण का वादा पूरा नहीं कर सकी है, जिससे कई हिन्दू संगठन और हिन्दू मतदाता बीजेपी और मोदी सरकार से नाखुश हैं. जिसका फायदा बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना उठा सकती है. बता दे कि शिवसेना एक के बाद एक मोदी सरकार पर हमले बोल रही है. कल ही संसद में शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने पीएम मोदी से इस्तीफे की मांग की थी. 

You May Also Like

English News