राशि के अनुसार करें इन मंत्रों का जप, भोलेनाथ पूरी करेंगे आपकी हर इच्छा

मंगलवार,13 फरवरी महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाएगा। भगवान शिव आसानी से प्रसन्न होने वाले देवता हैं जो अपने भक्तों की मनोकामना जल्दी से पूरी कर देते हैं इसलिए उन्हें भोले नाथ भी कहते हैं। शास्त्रों के अनुसार हर दिन भगवान शिव 24 घंटे शिवलिंग में विराजमान रहते है। इस महाशिवरात्रि को शिवलिंग की पूजा करते समय अपनी राशि के अनुसार शिव मंत्र के जप करना चाहिए। राशि अनुसार शिव मंत्र का जप करने से व्यक्ति की कुंडली में मौजूद ग्रहों के कुप्रभाव समाप्त हो जाते हैं। आइए जानते हैं कि सभी 12 राशि वाले इस शिवरात्रि को किस मंत्र का जप करना चाहिए।राशि के अनुसार करें इन मंत्रों का जप, भोलेनाथ पूरी करेंगे आपकी हर इच्छा

मेष राशि- मेष राशि वाले इस महाशिवरात्रि को भगवान शिव की पूजा के बाद ‘ह्रीं ओम नम: शिवाय ह्रीं’ मंत्र का जप 108 बार करें। इस मंत्र के जप से शिक्षा के क्षेत्र में आने वाली बाधाएं दूर होती हैं। जो लोग अपना घर बनाने का सपना संजोए बैठे हैं इस दिन शिव मंत्र का जप करने से उनकी इच्छा पूरी होती है।

वृष राशि- वृष राशि वाले जातक मल्लिकार्जुन का ध्यान करते हुए ओम नम: शिवाय मंत्र का जप करें। शिवरात्रि पर भगवान शिव की इस प्रकार पूजा करने से ऊर्जा का विकास होता है और कार्य क्षमता बढ़ती है और परिवार के बीच प्यार बढ़ता है।

मिथुन राशि- इस राशि वाले लोग शिवरात्रि के दिन महाकालेश्वर का ध्यान करते हुए ओम नमो भगवते रूद्राय मंत्र का जप करें। इस मंत्र के जप से लोग आर्थिक परेशानियों से मुक्ति पाना चाहते हैं उन्हें धन लाभ का मौका मिलता है।

कर्क राशि- अगर आप चाहते हैं कि इस महाशिवरात्रि भगवान भोले नाथ आप के ऊपर अपनी कृपा बरसाएं तो शिव पूजा के बाद ओम हौ जूं स: इस मंत्र का जप करें। इस प्रकार शिव की पूजा करने से भौतिक सुख के साधन बढ़ते हैं।

सिंह राशि- सिंह राशि वाले लोग इस महाशिवरात्रि को ह्रीं ओम नम: शिवाय ह्रीं का कम से कम 51 बार मंत्र का जप करें। इस मंत्र के जप से सरकारी नौकरी और सरकार से जुड़े कार्यों में आने वाली परेशानियों का अंत हो जाता है।

कन्या राशि- इस शिवरात्रि कन्या राशि वाले ओम नमो भगवते रूद्राय मंत्र का जप करें। इस मंत्र के जप से कन्या राशि वाले जातकों का आत्मविश्वास बढ़ेगा जिसके कारण हर क्षेत्र में उनकी प्रसिद्धि बढ़ेगी और धन लाभ होगा।

तुला राशि- तुला राशि वाले इस शिवरात्रि शिव पंचाक्षरी मंत्र ओम नम: शिवाय का 108 बार जप करें। इस मंत्र का जप करने से कार्यक्षेत्र में आने वाली परेशानियां दूर होती हैं।

वृश्चिक राशि- इस राशि के लोग शिवरात्रि के दिन ह्रीं ओम नम: शिवाय ह्रीं मंत्र का जप करें। महाशिवरात्रि के दिन इस मंत्र का जप करने से भाग्य मजबूत होता है। घर में सुख और समृद्धि आती है।

धनु राशि- शिवरात्रि के दिन चन्द्रमा कमजोर होता है। धनु राशि वाले जातक इस दिन ओम तत्पुरूषाय विध्म्ये महादेवाय धीमाह। तन्नो रूद: प्रचोदयात के मंत्र का जप करने से चंद्रमा मजबूत होता है और शिव जी की कृपा मिलती है। इस मंत्र के जप से अचानक आने वाली परेशानियों से निजात मिल जाती है।

मकर राशि- इस राशि के जातक भगवान शिव की कृपा पाने के लिए ओम नम: शिवाय का जप करें। इस दिन इस मंत्र का जप करने से विवाह में आने वाली बाधा दूर हो जाती है। दाम्पत्य जीवन में तनाव की कमी होती है। बिजनेस में तरक्की होती है।

कुंभ राशि- कुंभ राशि वालों के स्वामी शनिदेव है। इसलिए इस राशि के जातक मकर राशि की तरह ओम नम: शिवाय मंत्र का जप करें। इस राशि के लोग अगर इस मंत्र का जप करेंगे तो पूरे साल उनकी सेहत अच्छी रहेगी।

मीन राशि- इस राशि के लोग जितना हो सके उतनी बार ओम तत्पुरूषाय विघ्म्हे महादेवाय धीमहि तन्नो रूद्र प्रचोदयात् मंत्र का जप करना चाहिए। इस तरह से इस मंत्र का जप करने आपके ऊपर शनिदेव की तिरछी नजर नहीं रहेंगी।आत्मविश्वास में बढ़ोत्तरी होगी।

You May Also Like

English News