राष्ट्रपति चुनाव से पहले विपक्षी दलों की तरफ से एक उम्मीदवार खड़ा करने की कवायद तेज़

राष्ट्रपति चुनाव से पहले विपक्षी दलों की तरफ से एक साझा उम्मीदवार खड़ा करने की कवायद तेज़ हो गई है. सोमवार को कई कद्दावर नेता एक मंच पर जुटे. बहाना था समाजवादी नेता मधु लिमये के 95वें जन्मदिन का.उल्लेखनीय है कि इस मौके पर कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह, सीपीएम महसचिव सीताराम येचुरी, एनसीपी के नेता डीपी त्रिपाठी, जेडी (यू) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव और प्रधान महासचिव केसी त्यागी, सीपीआई नेता डी. राजा समेत कई अहम विपक्षी नेता एक ही मंच पर नजर आए.

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि विपक्ष ऐसा साझा उम्मीदवार खड़ा करना चाहता हैं जो संविधान की सुरक्षा कर सके. अभी किसी उम्मीदवार का नाम लेने का समय नहीं आया है.दरअसल, ये कवायद आगामी राष्ट्रपति चुनाव से पहले विपक्ष को एक ही मंच पर लाने की शुरूआत है.

बता दें कि इस अवसर पर केसी त्यागी ने कहा कि संविधान संकट में है. हमारे लिए ये महत्वपूर्ण है कि ऐसा व्यक्ति राष्ट्रपति बने जिससे संविधान सुरक्षित रहे. उम्मीद है कि विपक्ष से सशक्त उम्मीदवार उतरेगा.इस सवाल पर कि क्या शरद पवार वह सशक्त उम्मीदवार हो सकते हैं? इस पर त्यागी ने कहा कि शरद पवार सशक्त उम्मीदवार हो सकते हैं. ये फैसला सभी बड़े विपक्षी दलों के नेताओं को करना है.ये पहला मौका है कि जब एक ही मंच पर कई विपक्षी दलों के प्रमुख नेता एकसाथ दिखे हैं.

यह भी देखें

You May Also Like

English News