राहुल गाँधी जवाब दे, लश्कर आतंकी और कोंग्रेसियों में क्या संबंध है

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कल जम्मू-कश्मीर में रैली कर रहे थे, जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की 65 वीं पुण्यतिथि पर आयोजित इस कार्यक्रम में अमित शाह ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा वहीं इस सभा को सम्बोधित करते हुए अमित शाह ने कांग्रेस के प्रेसिडेंट राहुल गाँधी से पूछा कि कांग्रेस बताए उसमें और लश्कर-ए-तैयबा में क्या संबंध है.भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कल जम्मू-कश्मीर में रैली कर रहे थे, जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की 65 वीं पुण्यतिथि पर आयोजित इस कार्यक्रम में अमित शाह ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा वहीं इस सभा को सम्बोधित करते हुए अमित शाह ने कांग्रेस के प्रेसिडेंट राहुल गाँधी से पूछा कि कांग्रेस बताए उसमें और लश्कर-ए-तैयबा में क्या संबंध है.  वहीं इस रैली में अमित शाह ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान का जिक्र करते हुए कहा है कि, आज अगर कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है तो इसके पीछे डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी का बलिदान शामिल है. वहीं हाल ही में पीडीपी से गठबंधन टूटने को लेकर भी उन्होंने खुद कि पार्टी के गुणगान गाते हुए बीजेपी को राष्ट्रवादी पार्टी घोषित कर दिया.  अमित शाह ने इस मौके पर कांग्रेस के साथ जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती पर निशाना साधते हुए कहा है कि "पिछले 70 सालों में जो नहीं हुआ है तो मोदी जी सरकार ने कर दिखाया है, जम्मू-कश्मीर में भी मोदी सरकार ने विकास कार्यों को आगे बढ़ाने की कोशिश की लेकिन सरकार का साथ न मिलने के कारण यहाँ कोई कार्य आगे नहीं बढ़ पाया."

वहीं इस रैली में अमित शाह ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान का जिक्र करते हुए कहा है कि, आज अगर कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है तो इसके पीछे डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी का बलिदान शामिल है. वहीं हाल ही में पीडीपी से गठबंधन टूटने को लेकर भी उन्होंने खुद कि पार्टी के गुणगान गाते हुए बीजेपी को राष्ट्रवादी पार्टी घोषित कर दिया.

अमित शाह ने इस मौके पर कांग्रेस के साथ जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती पर निशाना साधते हुए कहा है कि “पिछले 70 सालों में जो नहीं हुआ है तो मोदी जी सरकार ने कर दिखाया है, जम्मू-कश्मीर में भी मोदी सरकार ने विकास कार्यों को आगे बढ़ाने की कोशिश की लेकिन सरकार का साथ न मिलने के कारण यहाँ कोई कार्य आगे नहीं बढ़ पाया.”

You May Also Like

English News