राहुल गांधी के देहरादून दौरे में कड़ी सुरक्षा के कारण, सिर्फ 46 कांग्रेसी ही कर सकेंगे मुलाक़ात

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी से उनकी देहरादून के व्यक्तिगत भ्रमण के दौरान सिर्फ 46 कांग्रेसी ही मुलाक़ात कर पाएंगे, जिनमे 30 वरिष्ठ कांग्रेस नेता होंगे. इनमें पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय समेत तमाम विधायक शामिल हैं. यह लोग उनसे सुबह की मीटिंग में मिलेंगे जो 12:30 से लेकर 12:55 तक होगी.राहुल गांधी के देहरादून दौरे में कड़ी सुरक्षा के कारण, सिर्फ 46 कांग्रेसी ही कर सकेंगे मुलाक़ातध्वजारोहण के जश्न में शरीक न होना पर सख्त हुए CM, 54 अधिकारियों को जारी किया नोटिस

इनके अलावा संगठन के 16 पदाधिकारी शाम की मीटिंग में ही उनसे मिल पाएंगे जो केवल 20 मिनट के लिए तय की गई है.

विशेष सुरक्षा का पूरा ध्यान  

गौरतलब है कि इससे पहले राहुल की गुजरात यात्रा के दौरान उनके काफिले पर पत्थर मार कर उनकी कार का शीशा तोड़ने की घटना सामने आई थी, जिसकी वजह से SPG ने अब देहरादू यात्रा में सभी कार्यकर्ताओं को भी उनसे दूर रखा है. राहुल की नेताओं से मुलाकात एयरपोर्ट के अंदर लाउंज में ही रखी गई है ताकि किसी भी तरह कोई भी व्यक्ति उन तक पहुंच न बना सके. इससे जमीनी कार्यकर्ताओं में मायूसी भी है कि वो अपने राष्ट्रीय नेता से मिलने से वंचित रह जाएंगे.

प्रियंका भी होंगी साथ

राहुल गांधी की बहन प्रियंका वाड्रा भी उनके साथ इस दौरे पर आ रही हैं. वह अपने बेटे रेहान से मिलने के लिए दून स्कूल पहुंच रही हैं. अभी ये तय नही है कि प्रियंका की वापसी राहुल के साथ ही होगी या फिर वो अपने बेटे रेहान के साथ कुछ वक्त बिताने के लिए रुकेंगी, इससे पहले भी प्रियंका अपने बेटे से मिलने की लिए अक्सर देहरादून आती रही हैं और बेटे के साथ अक्सर घूमने के लिए निकलती रही हैं.

You May Also Like

English News