राहुल गांधी के साथ होती जानलेवा घटनाएं संजोग या साजिश

 कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विमान की लैंडिंग मे हुई ताज़ा गड़बड़ी और एक बड़े हादसे के टल जाने के बाद एक साथ कई सवाल फिर जिन्दा हो रहे है. राहुल के ऑफिस ने हुबली के गोकुल पुलिस स्टेशन में इस बाबत शिकायत दर्ज कराई है. इस संबंध में राहुल गांधी की टीम के सदस्यों ने एयरक्राफ्ट में हुई गड़बड़ियों के बारे में कर्नाटक डीजीपी को पत्र लिखा है. राहुल गांधी सहित 4 अन्य लोगों के साथ इस स्पेशल फ्लाइट में यात्रा कर रहे कौशल विद्यार्थी ने कर्नाटक के डीजी और आईजी को पत्र लिखा है. उन्होंने पत्र में इसे ‘अनएक्सप्लेनेड टेक्निकल एरर’ बताया है. और ये भी कहा है कि फ्लाइट की लैंडिंग के वक्त सब कुछ सामान्य नहीं था.  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विमान की लैंडिंग मे हुई ताज़ा गड़बड़ी और एक बड़े हादसे के टल जाने के बाद एक साथ कई सवाल फिर जिन्दा हो रहे है. राहुल के ऑफिस ने हुबली के गोकुल पुलिस स्टेशन में इस बाबत शिकायत दर्ज कराई है. इस संबंध में राहुल गांधी की टीम के सदस्यों ने एयरक्राफ्ट में हुई गड़बड़ियों के बारे में कर्नाटक डीजीपी को पत्र लिखा है. राहुल गांधी सहित 4 अन्य लोगों के साथ इस स्पेशल फ्लाइट में यात्रा कर रहे कौशल विद्यार्थी ने कर्नाटक के डीजी और आईजी को पत्र लिखा है. उन्होंने पत्र में इसे 'अनएक्सप्लेनेड टेक्निकल एरर' बताया है. और ये भी कहा है कि फ्लाइट की लैंडिंग के वक्त सब कुछ सामान्य नहीं था.   एयरक्राफ्ट VT-AVH फॉल्कन 2000 जिसका रजिस्ट्रेशन नेहरू प्लेस, दिल्ली में 04-02-2011 रेलीगेयर एविएशन लिमिटेड कंपनी के नाम से है. कल हुबली हवाई अड्डे पर रनवे से फिसल जाना महज एक तकनीकी खराबी थी या किसी साजिश का हिस्सा ये फ़िलहाल जांच के बाद साफ होगा. मगर ऐसा पहली बार नहीं है कि राहुल के काफिले या उन्हें निजी तौर पर नुकसान पहुंचा हो या पहुंचाने की कोशिश की गई हो. आपको याद होगा की अगस्त 2017  मे राहुल  गांधी की कार पर गुजरात के बाढ़ प्रभावित बनसकंठा जिले के दौरे के दौरान पथराव हुआ और इस हमले में राहुल गांधी के सुरक्षा अधिकारी ज़ख़्मी हुए थे.  बाद मे जांच के दौरान पता चला कि यह आम लोगों द्वारा किया गया हमला नहीं बल्कि इसके पीछे बीजेपी के एक कार्यकर्ता जयेश दर्जी का हाथ है. जिसे धनेरा पुलिस ने गिरफ़्तार किया. इसके आलावा भी राहुल के काफिले पर हमले के कई वाकिये दर्ज है. सम्भवतः राहुल मौजूदा राजनीती मे ऐसे एकलौते राजनेता है जो कई दफा इस तरह की वारदातों से रूबरू हो चुके है. गौरतलब है कि राहुल देश के उस परिवार से आते है जिसने दशको तक सत्ता मे रह कर देश की कमान संभाली है और आज वे देश की सबसे पुरानी पार्टी की कमान अपने हाथों मे लेकर एक मजबूत विपक्ष का किरदार निभा रहे है. ऐसे मे राहुल के साथ होती ये घटनाएं महज संजोग है या साजिश कहना मुश्किल है.  वैसे भी गाँधी परिवार मे हुए अब तक के बड़े नेताओं के साथ हुई दुर्घटनाएं देश आज तक भुला नहीं है.

एयरक्राफ्ट VT-AVH फॉल्कन 2000 जिसका रजिस्ट्रेशन नेहरू प्लेस, दिल्ली में 04-02-2011 रेलीगेयर एविएशन लिमिटेड कंपनी के नाम से है. कल हुबली हवाई अड्डे पर रनवे से फिसल जाना महज एक तकनीकी खराबी थी या किसी साजिश का हिस्सा ये फ़िलहाल जांच के बाद साफ होगा. मगर ऐसा पहली बार नहीं है कि राहुल के काफिले या उन्हें निजी तौर पर नुकसान पहुंचा हो या पहुंचाने की कोशिश की गई हो. आपको याद होगा की अगस्त 2017  मे राहुल  गांधी की कार पर गुजरात के बाढ़ प्रभावित बनसकंठा जिले के दौरे के दौरान पथराव हुआ और इस हमले में राहुल गांधी के सुरक्षा अधिकारी ज़ख़्मी हुए थे.

बाद मे जांच के दौरान पता चला कि यह आम लोगों द्वारा किया गया हमला नहीं बल्कि इसके पीछे बीजेपी के एक कार्यकर्ता जयेश दर्जी का हाथ है. जिसे धनेरा पुलिस ने गिरफ़्तार किया. इसके आलावा भी राहुल के काफिले पर हमले के कई वाकिये दर्ज है. सम्भवतः राहुल मौजूदा राजनीती मे ऐसे एकलौते राजनेता है जो कई दफा इस तरह की वारदातों से रूबरू हो चुके है. गौरतलब है कि राहुल देश के उस परिवार से आते है जिसने दशको तक सत्ता मे रह कर देश की कमान संभाली है और आज वे देश की सबसे पुरानी पार्टी की कमान अपने हाथों मे लेकर एक मजबूत विपक्ष का किरदार निभा रहे है. ऐसे मे राहुल के साथ होती ये घटनाएं महज संजोग है या साजिश कहना मुश्किल है.  वैसे भी गाँधी परिवार मे हुए अब तक के बड़े नेताओं के साथ हुई दुर्घटनाएं देश आज तक भुला नहीं है.  

You May Also Like

English News