राहुल गांधी के हाथ में सत्ता आते ही देश को झेलने पड़ेंगे ये बड़े नुकसान…

आगामी 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर इस समाय देश की हर राजनीतिक पार्टी काफी सजग है. लेकिन देश की दो दिग्गज राजनीतिक पार्टी सत्ता दल भारतीय जनता पार्टी और विपक्षी पार्टी कांग्रेस इस समय जमकर जोर आजमाइश कर रही है. दोनों पार्टी इस समय मई में होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखे हुए है, लेकिन वे इसके साथ-साथ 2019 लोकसभा चुनाव पर भी अपनी पैनी नजरें बनाए हुए हैं. जहां 2019 का चुनाव भारतीय जनता पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी. वहीं कांग्रेस अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी के नेतृत्व में लड़ेगी.आगामी 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर इस समाय देश की हर राजनीतिक पार्टी काफी सजग है. लेकिन देश की दो दिग्गज राजनीतिक पार्टी सत्ता दल भारतीय जनता पार्टी और विपक्षी पार्टी कांग्रेस इस समय जमकर जोर आजमाइश कर रही है. दोनों पार्टी इस समय मई में होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखे हुए है, लेकिन वे इसके साथ-साथ 2019 लोकसभा चुनाव पर भी अपनी पैनी नजरें बनाए हुए हैं. जहां 2019 का चुनाव भारतीय जनता पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी. वहीं कांग्रेस अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी के नेतृत्व में लड़ेगी.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां 2019 का चुनाव जीतकर एक बार फिर देश की सत्ता संभालना चाहेंगे वहीं राहुल गाँधी पहली बार देश की बागडोर संभालना चाहेंगे. लेकिन अगर ऐसा होता है कि राहुल गांधी 2019 में प्रधानमंत्री बन जाते हैं, और मोदी सत्ता से दूर रह जाते हैं. तो इस स्थिति में देश को कई बड़े नुकसान झेलने पड़ सकते हैं. आइये जानते हैं अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 में सत्ता में नहीं रहते हैं, तो भारत को किन 4 बड़े नुकसानों का सामना करना पड़ सकता हैं...  1... 2019 में अगर राहुल गांधी पीएम बनते है और पीएम मोदी लोकसभा का चुनाव हार जाते है तो सबसे बड़ा नुकसान भारत की ग्रोथ में होगा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, अभी तक देश में विदेशी निवेशकों ने पैसा नहीं लगाया है. इससे राष्ट्रीय मुद्रा 'रूपया' के कमजोर होने के आसार है.   2... राष्ट्रीय मुद्रा 'रूपया' के कमजोर होने पर इसका सीधा प्रभाव कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के रूप में देखने को मिलेगा. ऐसा होने पर पेट्रोल-डीजल के दाम तेजी से बढ़ जाएंगे.  3... 2019 में बाजार में भी जोख़िम देखने को मिल सकती है. क्योंकि 2019 में म्यूचुअल फंड में निवेश में तेज गिरावट आने के कारण ऐसा हो सकता है. फिलहाल निवेश में कमी  तो देखी गई हैं, लेकिन निवेश की स्तर में कोई गिरावट देखने को नहीं मिली.   4... वर्तमान समय में कॉरपोरेट प्रॉफिट काफी कम है, और अगर 2019 में पीएम मोदी दोबारा पीएम नहीं बने तो इसमें और कमी देखने को मिलेगी. साथ ही इसी वजह से अभी तक कंपनियां कोई नया निवेश करने पर विचार नहीं कर रही हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां 2019 का चुनाव जीतकर एक बार फिर देश की सत्ता संभालना चाहेंगे वहीं राहुल गाँधी पहली बार देश की बागडोर संभालना चाहेंगे. लेकिन अगर ऐसा होता है कि राहुल गांधी 2019 में प्रधानमंत्री बन जाते हैं, और मोदी सत्ता से दूर रह जाते हैं. तो इस स्थिति में देश को कई बड़े नुकसान झेलने पड़ सकते हैं. आइये जानते हैं अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 में सत्ता में नहीं रहते हैं, तो भारत को किन 4 बड़े नुकसानों का सामना करना पड़ सकता हैं…

1… 2019 में अगर राहुल गांधी पीएम बनते है और पीएम मोदी लोकसभा का चुनाव हार जाते है तो सबसे बड़ा नुकसान भारत की ग्रोथ में होगा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, अभी तक देश में विदेशी निवेशकों ने पैसा नहीं लगाया है. इससे राष्ट्रीय मुद्रा ‘रूपया’ के कमजोर होने के आसार है. 

2… राष्ट्रीय मुद्रा ‘रूपया’ के कमजोर होने पर इसका सीधा प्रभाव कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के रूप में देखने को मिलेगा. ऐसा होने पर पेट्रोल-डीजल के दाम तेजी से बढ़ जाएंगे.

3… 2019 में बाजार में भी जोख़िम देखने को मिल सकती है. क्योंकि 2019 में म्यूचुअल फंड में निवेश में तेज गिरावट आने के कारण ऐसा हो सकता है. फिलहाल निवेश में कमी 
तो देखी गई हैं, लेकिन निवेश की स्तर में कोई गिरावट देखने को नहीं मिली. 

4… वर्तमान समय में कॉरपोरेट प्रॉफिट काफी कम है, और अगर 2019 में पीएम मोदी दोबारा पीएम नहीं बने तो इसमें और कमी देखने को मिलेगी. साथ ही इसी वजह से अभी तक कंपनियां कोई नया निवेश करने पर विचार नहीं कर रही हैं. 

You May Also Like

English News