राहुल गांधी ने कहा- मैं शिव का भक्त हूं, मेरे मंदिर जाने से BJP डरी

इन दिनों कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात में नवसर्जन यात्रा लेकर शहर- शहर घूम रहे हैं. जिसके चलते वो बीजेपी के निशाने पर आ गए हैं. बीजेपी के गुजरात प्रभारी भूपेंद्र यादव ने सोमवार को राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस के प्रचार और उपाध्यक्ष राहुल गांधी बहुत मंदिर में जा रहे हैं. मंदिर जाना और वहां पूजा अर्चना करना भारतीय संस्कृति का स्वभाव है लेकिन मंदिर जाना स्वाभाविक धर्म होना चाहिए चुनावी कर्म नहीं.राहुल गांधी ने कहा- मैं शिव का भक्त हूं, मेरे मंदिर जाने से BJP डरीअखिलेश ने बनवाई कृष्ण की सबसे बड़ी मूर्ति, कीमत-वजन जान आपके उड़ जायेंगे होश

भूपेंद्र यादव ने कहा कि कांग्रेस बताए कि अक्षरधाम मंदिर राहुल के घर से केवल 6 किलोमीटर की ही दूरी पर है. वहां बहुत सारे देशों से लोग आते है लेकिन क्या वो अब तक वहां गए? उनके फार्म हाउस के पास ही में कात्यायनी का मंदिर है क्या वो वहां गए? शक्तिपीठ है क्या वो वहा गए? मंदिर जाना हमारा स्वाभाविक कर्म है, चुनावी कर्म नहीं होना चाहिए.

भूपेंद्र यादव की बात से नाराज कांग्रेस ने बीजेपी को जवाब दिया है. खुद राहुल गांधी ने कहा कि मैं शिव जी का भक्त हूं. बीजेपी मेरे मंदिर जाने से डरी हुई है. वहीं कांग्रेस के भरत सिंह सोलंकी ने कहा कि बीजेपी के नेताओं का दिमाग खराब हो गया है क्योंकि मंदिर में जाने के लिए ना तो कोई समय होना चाहिए ना कोई बात होनी चाहिए. मंदिर माता जी की आस्था का प्रतीक है.

उन्होंने कहा कि जब भी टाइम मिले, राहुल गांधी सभी धार्मिक जगह जाते हैं ऐसी कोई जगह नहीं है जहां वह नहीं जाते. आपने तो राम मंदिर बनाया नहीं, लोगों को इतने सारे झूठ बोलकर वोट ले लिए और अपनी सरकार बना ली. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने भ्रष्टाचार किया और लोगों को उल्लू बनाया. बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी के मुख्यमंत्री तो अमित शाह के रिमोट कंट्रोल पर चलते हैं. 

राहुल गांधी मंदिर में जाकर गुजरात की जनता का विकास और देश की जनता की खुशी के लिए पूजा करते हैं. जहां तक मुख्यमंत्री के चेहरे का सवाल है, तो परंपरा रही है कांग्रेस चुनाव होने के बाद कांग्रेस के विधायक और आलाकमान तय करते हैं कि मुख्यमंत्री कौन होगा.

You May Also Like

English News