राहुल ने अमेरिका जाकर की सिख विरोधी दंगों की निंदा, कहा- हिंसा से किसी का भला नहीं

कांग्रेस उपाध्यक्ष गांधी अमेरिका के दौरे पर हैं. मंगलवार को राहुल गांधी ने बर्कले, यूनिवर्सिटी ऑफ कौलिफोर्निया में युवा छात्रों के साथ संवाद किया. इस दौरान राहुल ने कहा कि भारत की पहचान हमेशा से अहिंसा की रही है. राहुल ने कहा कि भारत में बीफ खाने के शक पर मुसलमानों को मारा जा रहा है. हिंसा से किसी का कुछ भला होने वाला नहीं है. राहुल ने कहा कि मैं अपने परिवार को खो चुका हूं. मेरी दादी और मेरे पिता हिंसा के ही शिकार हो चुके हैं.राहुल ने अमेरिका जाकर की सिख विरोधी दंगों की निंदा, कहा- हिंसा से किसी का भला नहींकांग्रेस उपाध्यक्ष पर संबित पात्रा ने किया पलटवार, ‘विदेश में अपने देश को कोसना, निराशा को दर्शाता है

अहिंसा के रास्ते पर ही भारत आगे बढ़ेगा

राहुल गांधी ने हिंसा की राजनीति पर जमकर प्रहार किया. राहुल ने कहा कि सदियों से भारत की पहचान अहिंसा की रही है और इसी रास्ते पर चलकर आगे बढ़ा है और भविष्य में भी इसी रास्ते के जरिए आगे बढ़ेगा. राहुल ने कहा कि किसी भी एक व्यक्ति के खिलाफ हिंसा का इस्तेमाल करना और आक्रामक रुख से आगे बढ़ना हानिकारक होता है. भारत में अहिंसा के विचार को हमेशा आगे रखा जाता है.

राहुल ने की सिख विरोधी दंगे की निंदा

राहुल गांधी ने 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुए सिख दंगे की निंदा करते हुए कहा कि मैं उनके न्याय के लिए उनके साथ हूं. उन्होंने कहा कि किसी भी तरह हिंसा का मैं निंदा करता हूं. उन्होंने कहा कि मेरी दादी सिखों को अपना मानती थीं. जब वह चुनाव हार गईं, तो भी हमारे घर के चारों ओर सिख लोग ही थे.

हिंसा की भेंट चढ़े मेरे पिता और दादी

राहुल ने कहा, ” मैंने बचपन से ही हिंसा की त्रासदी को झेला है. उन्होंने कहा कि मेरे पिता और दादी को मार दिया गया. मुझसे ज्यादा हिंसा किसने झेली है. इन दिनों भारत में मुसलमानों के खिलाफ हिंसा हो रही है. उन्हें बीफ खाने के शक पर मारा जा रहा है और साथ ही दलितों का भी उत्पीड़न किया जा रहा है. 

जिनके साथ खेलता था उन्होंने ही मेरी दादी को गोली मारी

राहुल ने कहा कि ”जिन लोगों ने मेरी दादी को गोली मारी, मैं उन लोगों के साथ बैडमिंटन खेलता था. मुझे पता है कि हिंसा से क्या नुकसान हो सकता है. किसी भी व्यक्ति के खिलाफ हिंसा होनी गलत बात है. उन्होंने कहा कि जब आप अपने लोगों को खोते हो, तो आपको गहरी चोट लगती है. हिंसा से किसी का भला नहीं होने वाला है.

loading...

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English News