राहुल ने भाजपा के घोषणा पत्र को बताया फेल

कर्नाटक चुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस में घमासान जारी है. इस बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने भाजपा द्वारा जारी घोषणा पत्र का मूल्यांकन कर उसे पांच में से सिर्फ एक अंक देकर फेल बताया.कर्नाटक चुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस में घमासान जारी है. इस बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने भाजपा द्वारा जारी घोषणा पत्र का मूल्यांकन कर उसे पांच में से सिर्फ एक अंक देकर फेल बताया.  उल्लेखनीय है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट से एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कर्नाटक भाजपा के घोषणा पत्र को 5 में 1 अंक देकर यह सलाह भी दे दी कि यदि कांग्रेस का घोषणा पत्र पढ़ चुके हैं तो भाजपा के घोषणा पत्र पर समय बर्बाद ना करें. इसके पूर्व कांग्रेस ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा की ओर से जारी घोषणापत्र को ‘ जुमलाफेस्टो ’ करार देते हुए झूठ का पुलिंदा बताते हुए कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने अपने ट्वीट में इसे ‘येदि-रेड्डी के 2018 के घोषणापत्र’ का मिश्रण बताया था.  बता दें कि भाजपा ने कर्नाटक मेें सत्ता में आने पर किसानों के एक लाख रुपए तक के कर्ज माफ करने , डिग्री कालेज स्तर तक सभी छात्रों को नि:शुल्क शिक्षा देने तथा गरीबी रेखा के नीचे के परिवार की महिला को मुफ्त स्मार्ट फोन देने की घोषणा की है.इस घोषणा पत्र को भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बी. एस. येद्दयुरप्पा ने जारी कर कहा कि सत्तारूढ़ होने पर मंत्रिमंडल की पहली ही बैठक में राष्ट्रीय बैंकों और सहकारी क्षेत्र के बैंकों से किसानों द्वारा लिये गएं एक लाख रुपए तक के कर्ज माफ करने के साथ 20 लाख सीमांत एवं असिंचित भूमि वाले किसानों को ‘नेगीलायोगी योजने’ के तहत 10 हजार रुपए की प्रत्यक्ष आय सुविधा दी जाएगी.

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट से एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कर्नाटक भाजपा के घोषणा पत्र को 5 में 1 अंक देकर यह सलाह भी दे दी कि यदि कांग्रेस का घोषणा पत्र पढ़ चुके हैं तो भाजपा के घोषणा पत्र पर समय बर्बाद ना करें. इसके पूर्व कांग्रेस ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा की ओर से जारी घोषणापत्र को ‘ जुमलाफेस्टो ’ करार देते हुए झूठ का पुलिंदा बताते हुए कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने अपने ट्वीट में इसे ‘येदि-रेड्डी के 2018 के घोषणापत्र’ का मिश्रण बताया था.

बता दें कि भाजपा ने कर्नाटक मेें सत्ता में आने पर किसानों के एक लाख रुपए तक के कर्ज माफ करने , डिग्री कालेज स्तर तक सभी छात्रों को नि:शुल्क शिक्षा देने तथा गरीबी रेखा के नीचे के परिवार की महिला को मुफ्त स्मार्ट फोन देने की घोषणा की है.इस घोषणा पत्र को भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बी. एस. येद्दयुरप्पा ने जारी कर कहा कि सत्तारूढ़ होने पर मंत्रिमंडल की पहली ही बैठक में राष्ट्रीय बैंकों और सहकारी क्षेत्र के बैंकों से किसानों द्वारा लिये गएं एक लाख रुपए तक के कर्ज माफ करने के साथ 20 लाख सीमांत एवं असिंचित भूमि वाले किसानों को ‘नेगीलायोगी योजने’ के तहत 10 हजार रुपए की प्रत्यक्ष आय सुविधा दी जाएगी.

You May Also Like

English News