राहुल ने मोदी से पूछा सवाल, कहा- 22 साल में गुजरातियों पर 26 गुना कैसे बढ़ गया कर्ज?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुजरात में बीजेपी के 22 सालों का हिसाब मांगने के क्रम में राहुल गांधी ने गुरुवार को एक और ट्वीट किया. राहुल ने इस ट्वीट में गुजरात पर कर्ज को लेकर नरेंद्र मोदी से सवाल पूछा है.राहुल ने मोदी से पूछा सवाल, कहा- 22 साल में गुजरातियों पर 26 गुना कैसे बढ़ गया कर्ज?अभी-अभी आई बुरी खबर: पूर्व रक्षामंत्री एके को हुआ ब्रेन हैमरेज, अस्पताल में तुरंत कराया भर्ती

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा है कि 1995 में गुजरात पर 9,183 करोड़ रुपये का कर्ज था और 2017 में गुजरात पर 2,41,000 करोड़ का कर्ज है. यानी हर गुजराती पर 37 हजार रुपये का कर्ज है. इन आंकड़ों को सामने रखते हुए राहुल गांधी ने पूछा है कि नरेंद्र मोदी के वित्तीय कुप्रबंधन और पब्लिसिटी की सजा गुजरात की जनता क्यों चुकाए?

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात में 22 सालों से सत्ता पर काबिज पर बीजेपी से हिसाब मांगने के क्रम में हर रोज एक-एक सवाल पूछना शुरू किया है. इसी क्रम में राहुल ने बुधवार को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुजरात को लेकर एक सवाल पूछा था.

गुजरात के हालात को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष का सवाल था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2012 में गुजरात की जनता से वादा किया था कि लोगों को 50 लाख नए घर देंगे, लेकिन 5 साल में अब तक केवल सिर्फ 4.72 लाख घरों का निर्माण हुआ है. राहुल ने पूछा था कि क्या प्रधानमंत्री को अपना वादा पूरा करने में 45 साल और लगेंगे?

बता दें कि राहुल गांधी इस समय दो दिवसीय गुजरात दौरे पर हैं. इस क्रम में वो पार्टी के लिए प्रचार कर रहे हैं. बुधवार को अपने दौरे के पहले दिन कांग्रेस उपाध्यक्ष ने सोमनाथ मंदिर में दर्शन किए और जनसभा को संबोधित किया. राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि वे अमिताभ बच्चन से भी बड़े एक्टर हैं. एक्टिंग में उनका कोई मुकाबला नहीं है. 

राहुल के सोमनाथ मंदिर दौरे से भड़का विवाद

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बुधवार को सोमनाथ मंदिर दौरे से एक बड़ा विवाद पैदा हो गया. बीजेपी ने उनकी आस्था को लेकर सवाल उठाए, जबकि कांग्रेस ने बीजेपी पर ओछी राजनीति करने का आरोप लगाया. कांग्रेस ने कहा कि राहुल गांधी हिंदू भक्त हैं. यह विवाद राहुल गांधी के मीडिया समन्वयक मनोज त्यागी के गैर हिंदुओं के लिए बने रजिस्टर में हस्ताक्षर करने से पैदा हुआ.

इसके बारे में कांग्रेस ने कहा है कि इस रजिस्टर में बाद में राहुल गांधी और अहमद पटेल का नाम जोड़ा गया. इस दौरे के कुछ समय बाद सोशल मीडिया पर मनोज त्यागी के हस्ताक्षर वाला रजिस्टर घूमने लगा, जिसमें राहुल गांधी व अहमद पटेल का नाम बाई तरफ था. इस कहानी के साथ भाजपा सामने आई कि राहुल गांधी ने खुद को एक गैर-हिंदू घोषित कर दिया है.

सौराष्ट्र क्षेत्र के बीजेपी प्रवक्ता राजू ध्रुव ने कहा, ‘कांग्रेस ने हमेशा राहुल गांधी को एक हिंदू के तौर पर दिखाने की कोशिश की, लेकिन तथ्य यह है कि वह हिंदू नहीं हैं. राहुल गांधी ने अक्टूबर से 20 से ज्यादा हिंदू देवी-देवताओं के मंदिरों का दौरा किया है. कांग्रेस झूठ बोल रही है. दाखिल की गई प्रविष्टि दिखाती है कि वह हिंदू नहीं हैं.’

मनोज त्यागी ने बाद में एक बयान जारी कर कहा कि उन्होंने मंदिर में मीडियाकर्मियों को अंदर ले जाने के लिए गांधी का नाम दर्ज किया था. यह राहुल गांधी या अहमद पटेल की तरफ से नहीं था. इसे बाद में जोड़ दिया गया होगा.

You May Also Like

English News